खाद की मांग कम होने से भरे हैं सहकारी समिति के गोदाम

PUBLISHED ON: January 5, 2017 | Duration: 2 min, 28 sec

   
loading..
31 दिसंबर को प्रधानमंत्री ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में कहा था कि खाद की मांग बढ़ी है, जबकि हकीकत कुछ और है. मौसम अनुकूल होने के चलते किसानों ने समय पर फसलों की बुआई करने के लिए बाजार से उधार खाद खरीदकर काम चलाया.
ALSO WATCH
देश में अब नोटबंदी जैसे हालात? कई राज्यों में कैश की किल्लत

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................