क्या पूरा होगा ‘क्लीन क्रिकेट’ का सपना?

PUBLISHED ON: August 17, 2016 | Duration: 14 min, 21 sec

   
loading..
बीते दिनों जब सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई पर जस्टिस लोढ़ा कमेटी की सिफारिशें लागू करने का फैसला सुनाया तो देशभर के लोगों में क्लीन क्रिकेट की एक उम्मीद जगी. 18 जुलाई को आए इस फैसले को 6 महीने में लागू करने को कहा गया है, लेकिन अब उसी मामले में बीसीसीआई ने सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल की है. इस याचिका में कहा गया है कि कोर्ट अपने फैसले पर फिर से विचार करे, पांच जजों की एक बेंच बनाई जाए. इसके साथ ही यह भी अपील की गई है कि इस बेंच में चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर ना हों. ये याचिका जस्टिस मार्कंडेय काटजू के कहने पर दायर हुई है, जिन्हें बीसीसीआई ने फैसले को समझने और उसे लागू करने की जिम्मेदारी सौंपी है, बोर्ड फिलहाल कोर्ट के फैसले पर काम नहीं कर रही.
ALSO WATCH
भारत और पाकिस्तान के बीच महा मुकाबला आज, देखें खास बातचीत

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................