रणनीति : चुनावों के बीच बांटती और डराती बोली

PUBLISHED ON: April 21, 2014 | Duration: 18 min, 01 sec

  
loading..
अमित शाह के बाद गिरिराज सिंह बोले और अब प्रवीण तोगड़िया भी बोल रहे हैं। बदले और नफरत से भरी वह भाषा जिसे बीजेपी नामंजूर करने का दावा तो जरूर करती है, लेकिन अपने लोगों को रोकती नहीं।
ALSO WATCH
शिवसेना-बीजेपी गठजोड़ पर सवाल
................... Advertisement ...................
................... Advertisement ...................