रणनीति: क्या बढ़ रहा है हिंदू कट्टरपंथ का खतरा?

PUBLISHED ON: August 14, 2018 | Duration: 15 min, 14 sec

  
loading..
एटीएस ने एक तथाकथित बड़े हमले को टालते हुए कुछ दिनों पहले तीन गिरफ्तारियां की. वैभव राउत, शरद कलास्कर और सुधानव गोंधालेकर. दो की गिरफ्तारी पालघर में नालासोपारा से हुई. पहले वैभव राउत के घर से और दुकान से 20 देसी बम के साथ विस्फोटक, जिलेटिन स्टिक, डेटोनेटर, बैटरी और सर्किट जैसे सामान मिले. फिर बाकी साथियों की गिरफ्तारी के बाद दूसरी एक जगह से हथियार बनाने के एक कारखाने का पता चलता है जहां से मैगजीन भरी 10 देसी पिस्तौल, 1 देसी कट्टा, 1 एयर गन, 6 पिस्टल बैरल, 6 पिस्टल मैगजीन, गाड़ियों की 6 नंबर प्लेट, आधी बनी 6 पिस्तौल समेत दूसरे सामान बरामद हुए हैं. गिरफ्तारी के तीसरे दिन भी नालासोपारा से 5 देसी पिस्तौल, 3 अधबनी देसी पिस्तौल और कई अवैध उपकरण मिले.
ALSO WATCH
Counter-Insurgency Ops After Killing Of Arunachal Lawmaker, Son, 9 Others

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................