रवीश कुमार का प्राइम टाइम: क्या कोरोना संकट में आंकड़ों की बाजीगरी ज्यादा ?

PUBLISHED ON: August 12, 2020 | Duration: 37 min, 19 sec

  
loading..
कोरोना महामारी के विश्लेषण के लिए कई दिनों से कई तरह के रेट चल रहे हैं. इन रेट का मुख्य काम है महामारी को छोटा दिखाना, जैसे ही महामारी बड़ी दिखने लगती है एक नया रेट आकर उसे छोटा दिखाने लगता है. पहले कहा गया कि कोरोना मामलों के डबल होने का रेट भारत में कम है, इसके बाद एक्टिव मामलों का रेट देखने को कहा गया. इसके बाद रिकवरी रेट की दलील दी गई.
ALSO WATCH
Amid Rising Covid Cases In Kerala, All-Party Meet Decides Against Lockdown

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com