प्राइम टाइम : ये अंधेरा ही आज के टीवी की तस्वीर है

PUBLISHED ON: February 19, 2016 | Duration: 41 min, 10 sec

  
loading..
डिबेट से जवाबदेही तय होती है, लेकिन जवाबदेही के नाम पर अब निशानदेही हो रही है। टारगेट किया जा रहा है। इस डिबेट का आगमन हुआ था मुद्दों पर समझ साफ करने के लिए, लेकिन जल्दी ही डिबेट जनमत की मौत का खेल बन गया। देखिए प्राइम टाइम में ये खास रिपोर्ट...
ALSO WATCH
NDTV और हमारी पत्रकारिता भीड़ से अलग खड़ी है : रवीश कुमार

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................