प्राइम टाइम : जजों की कमी से जूझती भारतीय अदालतें

PUBLISHED ON: April 25, 2016 | Duration: 42 min, 17 sec

  
loading..
भारत में 10 लाख की आबादी पर जजों की संख्या मुश्किल से 15 है। जजों पर मुकदमों का इतना बोझ है कि फैसला आते आते बीस तीस साल लग जाते हैं। न्यायपालिका की दुनिया का एक जुमला घिसते घिसते इतना घिस गया है कि इसका कोई मतलब नहीं रह गया। जस्टिस डिलेड जस्टिस डिनाइड अर्थात इंसाफ़ में देरी नाइंसाफ़ी है। प्राइम टाइम की इस कड़ी में भारतीय अदालतों पर खास नजर...
ALSO WATCH
आरे को जंगल घोषित करने से बॉम्बे हाइकोर्ट ने किया इनकार

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................