प्राइम टाइम : क्या पर्सनल लॉ को चुनौती नहीं दी जा सकती है?

PUBLISHED ON: September 2, 2016 | Duration: 42 min, 23 sec

   
loading..
आज सुप्रिम कोर्ट में दिए हलफनामें में ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने तीन तलाक को सही ठहराया. बोर्ड ने इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा में कहा है कि सामाजिक सुधार के नाम पर पर्सनल ला दोबारा नहीं लिखा जा सकता और कोर्ट की इस मामले में भूमिका नहीं हो सकती.
ALSO WATCH
फिल्म पद्मवत के विरोध में करणी सेना, सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करने की तैयारी

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................