प्‍लेज योर हार्ट : उम्मीदों और सफलताओं की कहानियां...

PUBLISHED ON: February 11, 2017 | Duration: 18 min, 18 sec

  
loading..
23 साल पहले हुए अपने पहले हार्ट ट्रांसप्लांट पर भारत को खुद पर गर्व है, लेकिन इस दौरान अंग-दान के आंकड़ों में बढ़ोतरी नहीं हुई. बहुत ही कम लोग दिल या दूसरे अंगों के दान का प्रण लेते हैं. भारत को हार्ट की ज़रूरत को पूरा करने के लिए 10 लाख अंगदाता चाहिए. मुश्किलों के बावजूद भी, कई उपलब्धियां हासिल की गईं और कई ज़िंदगियों को बचाया भी गया. हम आप तक लाएं हैं उम्मीदों और सफलताओं की कहानियां...
ALSO WATCH
प्राइम टाइम : जाति, धर्म से बाहर विवाह कितना मुश्किल?

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................