न्यूज प्वाइंट : साहित्यकार और सरकार आमने सामने

PUBLISHED ON: October 15, 2015 | Duration: 32 min, 49 sec

  
loading..
साहित्यकारों और सरकार आमने सामने हैं। साहित्यकार कह रहे हैं कि देश में असहिष्णुता बढ़ी है, अभिव्यक्ति के अधिकार पर चोट हो रही है और सरकार चुपचाप देख रही है। यही नहीं, कई साहित्यकारों ने अपने पुरस्कार भी वापस कर दिए हैं।
ALSO WATCH
क्या नोटबंदी का फैसला गलत साबित नहीं हुआ?

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................