इंसाफ की डगर पर : कानून के लिहाज से साल 2017 मील का पत्थर साबित हुआ

PUBLISHED ON: December 30, 2017 | Duration: 16 min, 31 sec

   
loading..
कैलेंडर बदलते रहते हैं, लेकिन कानून के लिहाज से साल 2017 एक मील के पत्थर की तरह हमेशा याद किया जाएगा. बात चाहे देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट की हो या फिर निचली अदालतों की. उनके ऐतिहासिक फैसले दिशा निदेशक के तौर पर देखे जाएंगे.
ALSO WATCH
हम लोग: बच्चियों से रेप पर सजा-ए- मौत क्या सही?

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................