मेरी आवाज सुनो : क्या जल्लीकट्टू और कंबाला होने चाहिए?

PUBLISHED ON: February 2, 2017 | Duration: 17 min, 16 sec

  
loading..
क्या जल्लीकट्टू और कंबाला होने चाहिए? क्या इससे पशुओं के साथ ज्यादती होती है? या फिर क्या पेटा जैसी संस्थाएं इसमें दखल न दें? इस मुद्दे पर बेंगलुरु के गार्डन सिटी कॉलेज के छात्रों का क्या कहना है, देखिए 'मेरी आवाज सुनो' के इस एपिसोड में.
ALSO WATCH
मेरी आवाज सुनो : क्‍या हमारा समाज लोकतांत्रिक है?

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................