खबरों की खबर : कट्टरता की कालिख

PUBLISHED ON: October 19, 2015 | Duration: 15 min, 26 sec

  
loading..
राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने एक बार फिर घटती सहनशीलता पर चिंता जताई। उन्होंने याद दिलाया कि हमारी सभ्यता मनुष्यता और बहुलता की है- 5000 साल की इस सभ्यता में असहमति के सम्मान की परंपरा है, जो कमज़ोर पड़ रही है। वहीं दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे जम्मू-कश्मीर के निर्दलीय विधायक इंजीनियर राशिद के चेहरे पर कुछ लोगों ने स्याही पोत दी।
ALSO WATCH
राफेल और नोटबंदी पर ऑडिट रिपोर्ट में हो रही देरी पर राष्ट्रपति को चिट्ठी

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................