खबरों की खबर : इसे मुआवज़ा कहें या मज़ाक

PUBLISHED ON: April 9, 2015 | Duration: 18 min, 41 sec

  
loading..
उनकी फ़सल बरबाद हुई। सबने वादा किया कि मुआवज़ा मिलेगा और फौरन मिलेगा। लेकिन जो मिल रहा है, वो मुआवज़ा है या मज़ाक, ये किसान समझ नहीं पा रहे।
ALSO WATCH
Does Dassault CEO's Defence On Rafale Deal Add Up?

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................