देस की बात रवीश कुमार के साथ : प्राइवेट शिक्षकों की हालत बहुत ही खराब

PUBLISHED ON: July 1, 2020 | Duration: 47 min, 32 sec

  
loading..
अमेरिका में जून के महीने में 100 बिलियन डॉलर बेरोजगारों को भत्ते के रूप में दिए गए हैं. भारतीय रुपये में यह राशि साढ़े सात लाख करोड़ रुपये हो जाती है. भारत में डेढ़ लाख करोड़ रुपये के अनाज में ही 80 करोड़ जनता आ गई है. हिंदुस्तान में सिर्फ 5 किलो अनाज और एक किलो चना देने के लिए डेढ़ लाख करोड़ पांच महीने में खर्च कर रहे हैं. भारत में बेरोजगारी के सिवाय किसी भी चीज का डेटा आ सकता है. कोविड के चलते न जाने कितने लोगों की रोजी रोटी छिन गई. निजी स्कूलों में शिक्षकों ने भी अपनी नौकरी गंवा दी है. स्कूल सैलरी दिए बिना शिक्षकों को निकाल रहे हैं.
ALSO WATCH
US-Based Lord & Taylor Files For Bankruptcy

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com