देस की बात रवीश कुमार के साथ: पिता के दर्द को कौन समझेगा?

PUBLISHED ON: June 29, 2020 | Duration: 42 min, 46 sec

  
loading..
एक खबर है हैरदाबाद की. एक पिता ने कहा है कि मरने से पहले उसके बेटे ने एक मैसेज भेजा था कि ऑक्सीजन नहीं मिल रही है. अब आप कल्पना कीजिए कि एक बाप को यह जानकारी तब मिले जब वह बेटे का अंतिम संस्कार कर घर लौटे हों. मोबाइल ऑन करे और उसमें बेटे का रिकॉर्ड किया हुआ वीडियो मैसेज दिखे. उसमें बेटा कह रहा हो कि मैं सांस नहीं ले पा रहा हूं. कई बार बोला है. जाहिर है अस्पताल वालों को. लेकिन पिछले तीन घंटे से ऑक्सीजन नहीं दिया है. मैं सांस नहीं ले पा रहा हूं. बाय बाय डैडी. सबको बाय डैडी.
ALSO WATCH
Delhi's New Plasma Policy Amid Worry Over Donor Shortage

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com