धारा 377: समलैंगिकों को अपराधी बनाता कानून!

PUBLISHED ON: January 9, 2018 | Duration: 4 min, 22 sec

  
loading..
2013 में सुप्रीम कोर्ट ने धारा 377 को बरकरार किया था और इसके बाद समलैंगिक ग्रुप सुप्रीम कोर्ट में रिव्यू याचिका दाखिल की थी. उनका तर्क था कि दुनिया भर में गे कम्यूनिटी को समान दर्जा देने का वक्त आ गया है. वह मांग कर रहे हैं कि दुनियाभर में यह हो रहा और भारत में भी इसे समान दर्जा मिलना चाहिए.
ALSO WATCH
Why Supreme Court Judge Says He Won't Stay In Delhi After Retirement

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................