यूनिवर्सिटी सीरीज: शिक्षकों की कमी पूरी करने की कितनी कोशिश?

PUBLISHED ON: July 9, 2018 | Duration: 21 min, 20 sec

  
loading..
हिन्दी प्रदेशों में विवाद तो दो ही विश्वविदयालय के चलते हैं एक जेएनयू के और दूसरा एएमयू. चैनलों ने जब चहां यहां से देशोद्रोही और हिन्दू मुस्लिन नेशनल सिलेबस का कोई न कोई चैप्टर मिल ही जाता है. गिनती के संस्थानों को छोड़ दें तो भारत के विश्वविद्यालय में क्या हाल है हम आपको यूनिवर्सिटी सीरीज़ में समय-समय पर दिखाते ही रहते हैं. नई घटना ये है कि मणिपुर यूनिवर्सिटी में छात्रों ने वाइस चांसलर आद्या प्रसाद पांडे के खिलाफ आंदोलन छेड़ दिया है. 40 दिनों से वहां पढ़ाई ठप्प है और छात्रों के समर्थन में करीब 28 विभागों के अध्यक्ष ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. अलग-अलग अकादमिक स्कूलों के 5 डीन ने भी इस्ताफा दे दिया है. इस हड़ताल के कारण वही हैं जो भारत के अनेक यूनिवर्सिटी में मौजूद हैं. 30 मई से ये छात्र जिन मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं वो हर यूनिवर्सिटी में है. इन छात्रों ने पहले अपनी मांग का चार्टर भी दिया था. जब सुनवाई नहीं हुई तब धरने पर बैठ गए. छात्रों का ज़ोर इस बात पर है अकादमिक कैलेंडर बेहतर हो और शिक्षकों के ख़ाली पद भरे जाएं ताकि छात्रों को शिक्षक मिल सके.
ALSO WATCH
रवीश कुमार का प्राइम टाइम : क्‍या यूपी में अपराधियों का बढ़ रहा है हौसला?

Related Videos

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................