रवीश कुमार का प्राइम टाइम: आर्थिक मंदी का कालीन उद्योग पर असर

PUBLISHED ON: January 27, 2020 | Duration: 3 min, 32 sec

  
loading..
वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर गोली मारने के नारे लगवा रहे हैं लेकिन एक तारीख के बजट से देश के अलग अलग सेक्टर उम्मीद कर रहे हैं कि उनका संकट दूर होगा. क्या आपने कभी अनुराग ठाकुर को बेरोज़गारी पर बोलते सुना है, क्या चाहेंगे कि वे आपसे बरोज़गारी पर बात करें क्योंकि सेंटर फार मानटरिंग इंडियन इकॉनमी की रिपोर्ट के अनुसार मई से अगस्त 2017 के बीच बेरोज़गारी की दर 3.7 प्रतिशत थी, अब यानि सितंबर से दिसंबर 2019 के बीच 7.5 प्रतिशत हो गई है. शहरों में बेरोज़गारी 9.9 प्रतिशत हो गई है. सबसे अधिक बेरोज़गारी पढ़े लिखे युवाओं में बढ़ी है. सरकार एयर इंडिया पूरी तरह से बेच देगी। 100 फीसदी विनिवेश किया जाएगा. अब आते हैं कालीन उद्योग के सेक्टर पर। सितंबर में जब NDTV ने कालीन उद्योग का जायज़ा लिया तो उन्होंने बताया कि महंगे कालीनों की मांग में 90% तक कमी आई है. अब ये मांग बस 8 फ़ीसदी रह गई है। यानि कोई सुधार नहीं हुआ है. कश्मीर का तो पूरा कारोबार चरमराया हुआ है. रिपोर्ट हिमांशु शेखर की है.
ALSO WATCH
उत्तर प्रदेश विधानसभा में पेश किया गया अब तक का सबसे बड़ा बजट

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................