सुप्रीम कोर्ट ने व्यभिचार कानून को किया रद्द, कहा- यह अपराध नहीं

PUBLISHED ON: September 27, 2018 | Duration: 6 min, 01 sec

  
loading..
158 साल पुराने कानून IPC 497 (व्यभिचार) की वैधता (Supreme Court verdict on Adultery under Section 497) पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने गुरुवार को अहम फैसला सुनाया. सुप्रीम कोर्ट में पांच जजों की संविधान पीठ ने व्यभिचार कानून को रद्द करते हुए कहा- यह अपराध नहीं
ALSO WATCH
आपराधिक मामले की जांच के दौरान पुलिस किसी अचल संपत्ति को जब्त नहीं कर सकती: SC

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................