सर क्या बागों में बहार है...

PUBLISHED ON: November 5, 2016 | Duration: 2 min, 19 sec

  
loading..
शुक्रवार को रवीश कुमार ने अपने शो प्राइम टाइम में 'बागों में बहार है' पंक्ति का इस्तेमाल किया. इस पंक्ति के जरिए रवीश यह बताना चाहते थे कि अब अथॉरिटी को सवालों से दिक्कत होने लग जाए तो किस तरह के सवाल उन्हें लुभाएंगे.
ALSO WATCH
रवीश की रिपोर्ट: गांधी से नफ़रत है गोडसे से मोहब्बत की वजह?

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................