प्राइम टाइम इंट्रो : बदायूं जैसी घटनाओं से क्या सबक?

PUBLISHED ON: June 2, 2014 | Duration: 5 min, 38 sec

  
loading..
दिसंबर, 2012 का निर्भया कांड हमारी जनचेतना में वो प्रस्थान बिंदु है, जहां से हम एक समाज और सरकार के रूप में बलात्कार की किसी घटना को एक सिस्टम की नजर से देखने लगते हैं। अब नाइंसाफी नहीं होगी, कोताही नहीं बरती जाएगी और बर्दाश्त नहीं होगा के भाव से। इसके बाद भी बलात्कार की किसी एक घटना को प्रतीक बनाकर राजनीतिक प्रदर्शन और अभिनयों का सिलसिला नहीं रुका है।
ALSO WATCH
अखिलेश यादव बोले- आजम खान पर मुकदमे राजनीति से प्रेरित

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................