अमित शाह के हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने वाले बयान पर विपक्षी नेताओं ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

PUBLISHED ON: September 14, 2019 | Duration: 2 min, 42 sec

  
loading..
हिन्दी दिवस के मौके पर एक बार फिर बहस तेज हो गई है कि क्या पूरे देश की एक भाषा हिन्दी होनी चाहिए. गृह मंत्री अमित शाह ने जहां हिन्दी को एक देश की भाषा बनाने पर जोर दिया वहीं कई दक्षिण भारतीय नेताओं ने कहा कि हिन्दी थोपने से पूरा देश एक साथ नहीं चल सकता. दरअसल इस मौके पर शाह ने ट्वीट कर इसे राष्ट्रभाषा बनाने की हवा को गति दे दी है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा, 'आज हिंदी दिवस के अवसर पर मैं देश के सभी नागरिकों से अपील करता हूं कि हम अपनी- अपनी मातृभाषा के प्रयोग को बढाएं और साथ में हिंदी भाषा का भी प्रयोग कर देश की एक भाषा के पूज्य बापू और लौह पुरूष सरदार पटेल के स्वप्न को साकार करने में योगदान दें.'
ALSO WATCH
Local Issues Dead In Elections?

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................