निर्भया गैंगरेप को दोषियों के लिए आखिरी विकल्प

PUBLISHED ON: November 1, 2019 | Duration: 3 min, 09 sec

  
loading..
निर्भया कांड के आरोपियों को सुप्रीम कोर्ट से मिली 'सजा-ए-मौत' कभी भी अमल में लाई जा सकती है. अगर उन्होंने सात दिन के अंदर राष्ट्रपति के यहां दया याचिका दाखिल नहीं की. इस बाबत तिहाड़ जेल प्रशासन ने बाकायदा चारों आरोपियों को लिखित में नोटिस थमाकर चेतावनी दे दी है. तिहाड़ जेल के महानिदेशक संदीप गोयल ने कहा, "चार में से तीन आरोपी तिहाड़ जेल में और एक आरोपी मंडोली स्थित जेल नंबर- 14 में बंद है. चारों आरोपियों को ट्रायल कोर्ट से मिली सजा-ए-मौत पर हाईकोर्ट और उसके बाद सुप्रीम कोर्ट में भी मुहर लगाई जा चुकी है."
ALSO WATCH
निर्भया मामला: दोषी पवन की याचिका कोर्ट ने की खारिज

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................