हेराल्‍ड हाउस पर दिल्‍ली हाई कोर्ट में हुई बहस

PUBLISHED ON: January 28, 2019 | Duration: 2 min, 24 sec

  
loading..
दिल्ली के हेराल्ड हाउस को खाली कराने के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट में कानूनी लड़ाई शुरू हो गई है. डिवीजन बैंच में सोमवार को दोनों पक्षों के बीच जमकर दलीलें दी गईं. कांग्रेस द्वारा चलाए जाने वाले एसोसिएटिड जर्नल्स लिमिटेड (AJL) ने सीधे तौर पर केंद्र सरकार पर निशाना साधा. अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, 'क्या ये कोई आधार दिया जा सकता है कि आपने ऑफिस चौथे तल पर शिफ्ट कर दिया. आप तीन तल से किराया ले रहे हैं. ये कोई इमारत खाली कराने का वैध आधार नहीं है. ये बात सही है कि 2008 में वित्तीय हालत खराब थी और बाद में 2016 से फिर से एडिशन शुरू हुए. डिजीटल पेपर भी अखबार होता है, आजकल ज्यादातर लोग डिजिटल खबरें ही पढ़ते हैं. प्रिंटिंग का मतलब प्रिटिंग प्रेस तक ही सीमित नहीं रहा है. प्रेस का मतलब प्रिंटिंग नहीं है. बहादुरशाह जफर मार्ग पर और भी अखबारों के दफ्तर हैं जहां प्रिंटिंग नहीं होती है. कोई जरूरी नहीं है कि उसी जगह से प्रिंटिंग की जाए.
ALSO WATCH
Mayawati's 6 Rajasthan MLAs Switch To Congress Ahead Of Local Body Polls

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................