जब अखिलेश और डिंपल यादव को नहीं पहचान पाईं थी मायावती

PUBLISHED ON: January 26, 2019 | Duration: 3 min, 48 sec

  
loading..
18 सालों तक मायावती के सुरक्षा अधिकारी रहे पदम सिंह ने बताया. "दिल्‍ली में उतरने के बाद बहन जी ने मुझसे उस नौजवान जोड़े के बारे में पूछा. मुझे 1995 का गेस्‍ट हाउस कांड याद था जब समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने मायावती पर हमला कर दिया था, तो मैंने लापरवाही से कह दिया कि वे दोनों मुलायम सिंह जी के बेटे-बहू अखिलेश और डिंपल यादव हैं. वह गुस्‍सा हो गईं और मुझे डपटकर बोलीं, "तुमने मुझे क्‍यों नहीं बताया? तुम्‍हें मुझे चुपचाप से बता देना चाहिए था. उनके बेटे-बहू ने मुझे नमस्‍ते किया और मुझे भी सही से उनका अभिवादन करना चाहिए था. तुमने मुझे इस बारे में कुछ नहीं बताया. वो लड़का मेरे बारे में क्‍या सोच रहा होगा? उसकी पत्‍नी क्‍या सोच रही होगी? यह सही नहीं हुआ."
ALSO WATCH
सिटी एक्सप्रेस: उन्नाव बलात्कार पर मचा राजनीतिक घमासान

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................