Ayodhya Case: जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने केस से हटाया

PUBLISHED ON: December 3, 2019 | Duration: 2 min, 15 sec

  
loading..
सुप्रीम कोर्ट में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद में मुस्लिम पक्षकारों की ओर से पैरवी करने वाले वरिष्ठ अधिवक्ता डॉ. राजीव धवन को केस से हटा दिया गया है. जमीयत उलेमा-ए-हिंद की ओर से दाखिल की गई पुनर्विचार याचिका में राजीव धवन का नाम नहीं है. इस पर राजीव धवन ने फेसबुक पोस्ट में कहा कि उन्हें इस ‘मूर्खतापूर्ण’ आधार पर इस मामले से हटा दिया गया है कि वह अस्वस्थ हैं. उन्होंने लिखा, ‘एओआर (एडवोकेट ऑन रिकार्ड) एजाज मकबूल, जो जमीयत का प्रतिनिधित्व करते हैं, द्वारा बाबरी प्रकरण से हटा दिया गया है. किसी आपत्ति के बगैर ही ‘बर्खास्तगी’ स्वीकार करने का औपचारिक पत्र भेज दिया है. पुनर्विचार या इस मामले से अब जुड़ा नहीं हूं.’
ALSO WATCH
झारखंड की चुनावी रैली में बोले अमित शाह, 4 महीने में राम मंदिर का काम शुरू होगा

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................