सहयोगियों के साथ के लिए क्या शाह को झुकना पड़ेगा?

PUBLISHED ON: June 9, 2018 | Duration: 2 min, 27 sec

  
loading..
बीजेपी अब अपनी तरफ से कोशिश कर रही है कि जितने भी उनके पुराने साथी हैं, जो पारंपरिक तौर पर, विचारधारा के तौर पर बीजेपी के साथ जुड़े रहे हैं, वो आज भी उनके साथ जुड़े हैं. लेकिन ये होना कोई आसान बात नहीं है. मिसाल के तौर पर बीजेपा और शिवसेना का रिश्ता वर्षों पुराना है. पहले शिवसेना लीड पार्टी थी, लेकिन अब सियासत बदल चुकी है. मुक़ाबला में बीजेपी नेता आरती मेहरा का कहना है कि संपर्क फॉर समर्थन अभियान में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह सहयोगियों से भी मिल रहे हैं. ये बताता है कि हम गठबंधन को लेकर प्रतिबद्ध हैं.
ALSO WATCH
मध्य प्रदेशः बीजेपी ने जारी किए दो घोषणापत्र- हर साल 10 लाख रोजगार का वादा

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................