एड गुरु पीयूष पांडे ने बताई अपने करियर के शुरुआत की कहानी

PUBLISHED ON: October 31, 2015 | Duration: 1 min, 45 sec

  
loading..
एड गुरु पीयूष पांडे ने बताया कि 1982 में जब उन्होंने विज्ञापन की दुनिया में कदम रखा तो वो साल कम्युनिकेशन और कलर टीवी का था। उन्होंने बताया कि लोग अंग्रेजी में लिखते थे और वे हिन्दी में लिखते थे। लोगों को उनका काम पसंद आया। बाद में उनके 'चल मेरी लूना' व 'दम लगा के हईशा' कैंपेन हिट हुए।
ALSO WATCH
केजरीवाल के विज्ञापन मामले में AAP से 97 करोड़ वसूलने का आदेश

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................