उपभोक्ताओं की मांग में कमी का असर

PUBLISHED ON: November 1, 2019 | Duration: 2 min, 05 sec

  
loading..
आर्थिक मंदी का असर अर्थव्यवस्था के अहम सेक्टरों पर पड़ना जारी है. सबसे ज्यादा असर अहम उद्योगों के उत्पादन पर पड़ रहा है. गुरुवार को वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय की तरफ से जारी ताज़ा आकड़ों के मुताबिक अप्रैल-सितंबर, 2019-20 में आठ कोर उद्योगों का संयुक्‍त सूचकांक सितंबर, 2019 में 120.6 अंक रहा, जो सितम्‍बर 2018 में दर्ज किए गए सूचकांक के मुकाबले 5.2 प्रतिशत कम है. आठ कोर उद्योगों में कोयला, बिजली, सीमेंट, उर्वरक, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस जैसे अहम सेक्टर शामिल हैं जिनका परफॉरमेंस अर्थव्यवस्था की सेहत के लिए महत्वपूर्ण माना जाता है.
ALSO WATCH
मंदी ने मंद की झारखंड की रफ्तार, हजारों मजदूर हुए बेरोजगार

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................