Profit

Tax

  • ITR 2018-19 या कहें वित्त वर्ष 2017-18 के लिए इनकम टैक्स स्लैब

    ITR 2018-19 या कहें वित्त वर्ष 2017-18 के लिए इनकम टैक्स स्लैब

    आयकर रिटर्न भरने का समय चल रहा है. सभी करदाताओं को को 31 जुलाई तक अपने अपने रिटर्न फाइल करने हैं. वित्त वर्ष 2017-18 या कहें आकलन वर्ष 2018-19 (एसेसमेंट ईयर Assesment Year 2018-19) के लिए आयकर (इनकम टैक्स) रिटर्न भरने में कई लोग लग गए हैं. अकसर देखा गया है कि लोगों को ऐसे समय लोगों को इनकम टैक्स स्लैब की जानकारी की जरूरत पड़ती है. उस यह देखना होता है कि वह किस स्लैब या कहें कि आयकर के दायरे में आता है जिसके हिसाब से उसे सरकार को कर देना होगा. 
  • छूट का नियम : आयकर की धारा 80 सी के बारे में पूरी जानकारी

    छूट का नियम : आयकर की धारा 80 सी के बारे में पूरी जानकारी

    हर करदाता को देश की अर्थव्यवस्था में अपना योगदान देना होता है. यह योगदान वह समय पर कर का भुगतान कर करता है. आम करदाता के लिए 31 जुलाई, 2018 इस वर्ष कर भुगतान की अंतिम तारीख है. ऐसे में करदाता को कुछ नियमों की जानकारी होना आवश्यक है. यह जानकारी उन करदाताओं के लिए बेहद जरूरी है जो अपना आयकर रिटर्न खुद भरते हैं.
  • आम करदाताओं की राहत के लिए मोदी सरकार ने दिया यह निर्देश

    आम करदाताओं की राहत के लिए मोदी सरकार ने दिया यह निर्देश

    देश में नरेंद्र मोदी सरकार ने सत्ता में आने के बाद से काला धन पर अंकुश लगाने के लिए कई कदम उठाए गए. इनमें से एक नोटबंदी भी रही. देश में काला धन अंकुश लगाने के लिए सबसे बड़ी सरकारी एजेंसी है आयकर विभाग. आयकर विभाग पर हर साल करदाता अपनी आय और कर के बारे में जानकारी देते हैं. ऐसे में विभाग इस जानकारी को क्रासचैक भी करता है और कई बार जानबूझकर दी गई गलत जानकारी पर ऐक्शन भी लेता है. 
  • सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Scheme) क्या है, इस पर मिलती है टैक्स छूट भी

    सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Scheme) क्या है, इस पर मिलती है टैक्स छूट भी

    अगर दो बेटियां हैं तो दोनों के लिए यह खाता खोला जा सकता है. लेकिन दो से अधिक बेटियों के लिए खाता नहीं खोला जा सकेगा. तीन बेटियों के लिए खाता खुलवाना तभी संभव है जब दूसरे बार जुड़वां बेटियां हो जाएं. कानूनी तौर पर बच्ची के अभिभावक या माता पिता ही खाता खुलवा सकते हैं.
  • आयकर रिटर्न दाखिल किया क्या, एफडी (Fixed Deposits FD) से जुड़े ये 5 नियम जरूर जान लें

    आयकर रिटर्न दाखिल किया क्या, एफडी (Fixed Deposits FD) से जुड़े ये 5 नियम जरूर जान लें

    31 जुलाई तक सभी आयकर दाताओं को अपना रिटर्न फाइल करना है. यह कानून जरूरी है. लेकिन ऐसा देखा गया है कि कई बार नियमों की जानकारी नहीं होने की वजह से कुछ आयकरदाता सही से रिटर्न फाइल नहीं कर पाते हैं और बाद में आयकर विभाग के नोटिस और जवाब का सिलसिला शुरू हो जाता है. ऐसे में समय बरबाद होता है और कई प्रकार की दिक्कतों का भी सामना करना पड़ता है. कई बार तो जुर्माना भी पड़ता है और कोर्ट कचहरी के चक्कर तक काटने पड़ जाते हैं.
  • खुद भरना चाहते हैं अपना ITR, ये है आसान तरीका

    खुद भरना चाहते हैं अपना ITR, ये है आसान तरीका

    इनकम टैक्स भरने की आखिरी तारीख में ज्यादा दिन नहीं बचे हैं. 31 जुलाई इनकम टैक्स (आयकर रिटर्न ITR return) फाइल करने की अंतिम तारीख है. अकसर यह होता है कि करदाता आखिरी पलों में ही टैक्स रिटर्न फाइल करते हैं और उस समय जल्दबाजी में गलती होने की संभावना और परेशानी होना लाजमी सा हो जाता है. अच्छा हो यदि इनकम टैक्स की ई-फाइलिंग समय रहते कर ली जाए. ऑनलाइन रिटर्न फाइल करने का तरीका आसान है. आइए जानें यह तरीका .
  • क्या आपने आधार और पैन कार्ड को लिंक किया... ये है आसान तरीका

    क्या आपने आधार और पैन कार्ड को लिंक किया... ये है आसान तरीका

    पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करना आवश्यक है. सरकार ने इस संबंध में पहले ही साफ कर दिया है. रिटर्न फाइल करते समय इसमें सुविधा भी होती है. अगर आपने अभी तक अपने दोनों कार्ड लिंक नहीं किए हैं और आधार कार्ड को पैन कार्ड से लिंक करना चाहते हैं तो इसके तरीके बहुत आसाना हैं.
  • सरकारी कर्मचारियों के बड़ी राहत की खबर, एकल रिटर्न का सुझाव

    सरकारी कर्मचारियों के बड़ी राहत की खबर, एकल रिटर्न का सुझाव

    संसद की एक समिति ने सरकारी कर्मचारियों के लिए अपनी संपत्तियों और देनदारियों का ब्योरा देने के लिए साल में सिर्फ एक रिटर्न भरने का सुझाव दिया है. लोकपाल कानून के तहत कई रिटर्न भरने की अनिवार्यता है. कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) द्वारा तैयार संशोधित मसौदे के अनुसार अब एक सरकारी कर्मचारी जिनमें मंत्री भी शामिल हैं, को पद पर आने के छह महीने के भीतर अपनी संपत्तियों और देनदारियों की घोषणा करनी होगी. 
  • कई और सामानों पर जीएसटी (GST) में की गई है कटौती, जानें कौन-कौन सा सामान हुआ सस्ता

    कई और सामानों पर जीएसटी (GST) में की गई है कटौती, जानें कौन-कौन सा सामान हुआ सस्ता

    जीएसटी परिषद ने सैनिटरी नैपकिन को माल एवं सेवा कर (जीएसटी) से छूट देने की एक साल से चल रही मांग को शनिवार को पूरा किया. जीएसटी के बारे में निर्णय करने वाले इस सर्वोच्च निकाय ने इसके अलावा टीवी , फ्रिज वॉशिंग मशीन तथा बिजली से चलने वाले कुछ घरेलू उपकरणों और अन्य उत्पादों पर भी कर की दरें कम की हैं. 
  • अब सबसे ऊंचे जीएसटी स्लैब में सिर्फ 35 उत्पाद

    अब सबसे ऊंचे जीएसटी स्लैब में सिर्फ 35 उत्पाद

    माल एवं सेवा कर (जीएसटीGST) परिषद ने सबसे ऊंचे 28 प्रतिशत के कर स्लैब में उत्पादों की सूची को घटाकर 35 कर दिया है. अब इस सूची में एसी, डिजिटल कैमरा, वीडियो रिकॉर्डर, डिशवॉशिंग मशीन और वाहन जैसे 35 उत्पाद रह गए हैं. पिछले एक साल के दौरान जीएसटी परिषद ने सबसे ऊंचे कर स्लैब वाले 191 उत्पादों पर कर घटाया है. 
  • रेफ्रिजरेटर, वाशिंग मशीन पर जीएसटी घटकर 18 फीसदी

    रेफ्रिजरेटर, वाशिंग मशीन पर जीएसटी घटकर 18 फीसदी

    जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) परिषद ने शनिवार को आम आदमी को राहत देते हुए रेफ्रिजरेटर, वाशिग मशीन और छोटे टेलीविजन सहित कई सामानों पर जीएसटी दर 28 फीसदी से घटाकर 18 फीसदी कर दिया है. कर की दरों में कटौती करने के अलावा जीएसटी परिषद ने कई सामानों पर से कर समाप्त कर दिया है, जिसमें सैनिटरी नैपकिन, राखी, फोर्टिफाइड मिल्क और पत्थर, मार्बल और लकड़ी से बनी मूर्तियां शामिल हैं. 
  • 31 जुलाई बाद आईटीआर दाखिल करने पर 5000 रुपये जुर्माना

    31 जुलाई बाद आईटीआर दाखिल करने पर 5000 रुपये जुर्माना

    अगर आपने अबतक आयकर रिटर्न दाखिल नहीं किया है तो अब और देर मत कीजिए, क्योंकि शुल्क मुक्त आयकर दाखिल करने की आखिरी तारीख 31 जुलाई, 2018 है. इसके बाद आयकर दाखिल करने वालों को 5,000 रुपये जुर्माना भरना पड़ेगा.
  • Sukanya Samriddhi Yojana : खाता खुलवाने के लिए न्यूनतम सीमा 250 रुपये की गई

    Sukanya Samriddhi Yojana : खाता खुलवाने के लिए न्यूनतम सीमा 250 रुपये की गई

    सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना में सालाना न्यूनतम जमा की सीमा को 1,000 रुपये से घटाकर 250 रुपये कर दिया है. इस कदम से अब अधिक से अधिक लोग इस योजना का लाभ उठा सकेंगे. सरकार ने सुकन्या समृद्धि खाता नियम, 2016 में संशोधन किया है. इसमें कहा गया है कि इस खाते को खोलने के लिए अब 250 रुपये ही जमा कराने की जरूरत होगी. साथ ही सालाना इस खाते में 1,000 रुपये के बजाय 250 रुपये जमा कराने की ही अनिवार्यता होगी. 
  • बिहार और झारखंड में सबसे ज्यादा टैक्स जमा करने वाले करदाता बने महेंद्र सिंह धोनी

    बिहार और झारखंड में सबसे ज्यादा टैक्स जमा करने वाले करदाता बने महेंद्र सिंह धोनी

    भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी बिहार और झारखंड में सबसे ज्यादा इनकम टैक्स देने वाले करदाता बन गए हैं. धोनी ने साल 2017-18 में 12.17 करोड़ रुपए का रिटर्न फाइल किया है. बता दें कि एमएस धोनी ने साल 2016-17 में 10.93 करोड़ का रिटर्न भरा था. आयकर विभाग के अधिकारी वी. महालिंगम के बताया है कि महेंद्र सिंह धोनी ने मौजूदा वित्तीय वर्ष में अब तक एडवांस टैक्स के रूप में पहले ही तीन करोड़ रुपए जमा कराए हैं.
  • सातवां वेतन आयोग : केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनधारियों के वेतन में इस बढ़ोतरी का समय आया

    सातवां वेतन आयोग : केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनधारियों के वेतन में इस बढ़ोतरी का समय आया

    2019 में लोकसभा के चुनाव होने हैं. माना जा रहा है कि सरकार केंद्रीय कर्मचारियों की मांग के बाद उन्हें खुश करने के लिए कुछ ही महीनों में महंगाई भत्ता बढ़ाने का फैसला ले सकती है. मीडिया में आई खबरों के मुताबिक सरकार इस बारे में विचार कर रही है.

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com