विदेशी बाजारों में पुन: उतरने की तैयारी में सुजलॉन: सीईओ

हालांकि 2008 के वैश्विक वित्तीय संकट ने उसकी स्थिति बिगाड़ दी.

विदेशी बाजारों में पुन: उतरने की तैयारी में सुजलॉन: सीईओ

सुजलॉन.

मुंबई:

पवन ऊर्जा टरबाइन बनाने वाली कंपनी सुजलॉन वित्तीय संकट से निकलते ही अंतरराष्ट्रीय बाजारों में पुन: प्रवेश करने की योजना बना रही है. कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसकी जानकारी दी. कंपनी की एक समय में 60% आय विदेशी बाजारों से होती थी. हालांकि 2008 के वैश्विक वित्तीय संकट ने उसकी स्थिति बिगाड़ दी.

कंपनी के मुख्य कार्यकारी जेपी चालासानी ने कहा, ‘‘एक ऐसा समय था जब हमारा निर्यात घरेलू कारोबार से अधिक राजस्व दे रहा था. तभी हम वित्तीय संकट में फंस गये और हमें अंतरराष्ट्रीय कारोबार छोड़कर शेष कारोबार पर ध्यान देना पड़ा.’’     उन्होंने कहा कि कंपनी अभी देश से बाहर 5,500 मेगावाट क्षमता का परिचालन कर रही है.    

चालासानी ने कहा, ‘‘हमने पिछले साल से अंतरराष्ट्रीय बाजारों पर पुन: ध्यान देना शुरू किया है. हमने पहले ही अपनी कंपनी को मजबूत कर लिया है और इसके लिए नया मुख्य कार्यकारी भी नियुक्त कर दिया है. हमें अगली तिमाही से वैश्विक ठेके मिलने की उम्मीद है.’’    
हालांकि उन्होंने कहा कि अब निर्यात का योगदान घरेलू कारोबार से कम ही रहेगा क्योंकि इस बार कंपनी सावधानी से आगे बढ़ेगी.    चालासानी ने कहा कि कंपनी अमेरिका, यूरोप एवं पड़ोसी देशों में पुन: उतरने की योजना बना रही है. 

ऋण के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि मार्च 2018 के अंत तक कंपनी का कुल कर्ज छह हजार करोड़ रुपये था. उन्होंने कहा कि दिसंबर 2018 तक हम 30 से 40 प्रतिशत कर्ज कम कर लेंगे.

More News