शेयर बाजार में रौनक, सेंसेक्स 400 अंक ऊपर और निफ्टी में भी 100 से ज्यादा की तेजी

सुबह 9.20 बजे सेंसेक्स 238 अंक ऊपर 35414 पर कारोबार कर रहा था जबकि निफ्टी 68 अंक ऊपर 10753 पर कारोबार कर रहा था.

शेयर बाजार में रौनक, सेंसेक्स 400 अंक ऊपर और निफ्टी में भी 100 से ज्यादा की तेजी

शेयर बाजार.

मुंबई: देश के शेयर बाजार में गुरुवार को खासी तेजी दर्ज की गई. सेंसेक्स और  निफ्टी हरे निशान के साथ खुले. सुबह 9.20 बजे सेंसेक्स 238 अंक ऊपर 35414 पर कारोबार कर रहा था जबकि निफ्टी 68 अंक ऊपर 10753 पर कारोबार कर रहा था. इस समय सभी कैटेगरी के शेयर हरे निशान पर ही कारोबार कर रहे थे.

वहीं दोपहर में सेंसेक्स 400.25 अंक बढ़कर 35,579.13 अंक पर, निफ्टी 118.75 अंक की तेजी के साथ 10,800 अंक के करीब पहुंचा.

देश के शेयर बाजार गुरुवार को मजबूती के साथ खुले. प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स सुबह 9.42 बजे 260.30 अंकों की मजबूती के साथ 35,439.18 पर और निफ्टी भी लगभग इसी समय 72.50 अंकों की बढ़त के साथ 10,757.15 पर कारोबार करते देखे गए. 

बम्बई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 99.5 अंकों की मजबूती के साथ 35,278.38 पर, जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 37.95 अंकों की बढ़त के साथ 10,722.60 पर खुला.

बंबई शेयर बाजार में पिछले तीन कारोबारी सत्रों से जारी गिरावट पर बुधवार को विराम लग गया और सेंसेक्स लगभग 276 अंक की बढ़त के साथ 35,000 अंक के ऊपर बंद हुआ था. रिजर्व बैंक के मुद्रास्फीति की चिंता में नीतिगत दर में 0.25 प्रतिशत की वृद्धि करने के बावजूद बाजार मजबूत हुआ. कारोबारियों के अनुसार अधिक निवेश तथा खपत की उम्मीद से केंद्रीय बैंक द्वारा 2018-19 के लिये जीडीपी वृद्धि दर को 7.4 प्रतिशत पर बरकरार रखने के फैसले को निवेशकों ने उत्साह से लिया था. 

रुपये में मजबूती तथा वैश्विक बाजारों में सकारात्मक रुख से धारणा को बल मिला था. केंद्रीय बैंक ने तेल के दाम में वृद्धि को देखते हुए मुद्रास्फीति संबंधी चिंता के कारण साढ़े चार साल में पहली बार नीतिगत दर में वृद्धि की है. इस वृद्धि के बाद रेपो दर 6.25 प्रतिशत हो गयी.

अडाणी फिनसर्व के संस्थापक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) गौरव गुप्ता ने कहा, ‘‘नीतिगत दर में वृद्धि बाजार उम्मीदों के अनुरूप है. आरबीआई के 2018-19 के लिये जीडीपी वृद्धि दर 7.4 प्रतिशत पर बरकरार रखने से यह बात रेखांकित होती है कि वैश्विक चुनौतियों के बावजूद अर्थव्यवस्था में अच्छी प्रगति हो रही है.’’    

दूरसंचार कंपनियों के शेयर चमक में रहे. बीएसई दूरसंचार सूचकांक खंडवार सूचकांकों में सर्वाधिक बढ़ा. भारती एयरटेल सेंसेक्स के शेयरों में सर्वाधिक लाभ में रहा. कंपनी का शेयर 4.55 प्रतिशत मजबूत हुआ. लाभ में रहने वाले अन्य प्रमुख शेयरों में टाटा मोटर्स (3.56 प्रतिशत), सन फार्मा (3.21 प्रतिशत), कोल इंडिया (1.98 प्रतिशत), बजाज आटो (1.78 प्रतिशत), विप्रो (1.57 प्रतिशत), महिंद्रा एंड महिंद्रा (1.42 प्रतिशत) तथा टाटा स्टील (1.36 प्रतिशत) शामिल हैं.    हालांकि ओएनजीसी, एशियन पेंट्स, एचडीएफसी बैंक तथा आईसीआईसीआई बैंक में 0.47 प्रतिशत तक की गिरावट दर्ज की गयी.

चीनी उद्योग के लिये 8,500 करोड़ रुपये के राहत पैकेज से चीनी कंपनियों के शेयरों में तेजी रही. उत्तम गल्वा 1.54 प्रतिशत, अवध शुगर एंड एनर्जी 0.53 प्रतिशत तथा बजाज हिंदुस्तान शुगर 0.71 प्रतिशत मजबूत हुए. वैश्विक स्तर पर एशियाई बाजारों में जापान का निक्केई 0.36 प्रतिशत, शंघाई कंपोजिट सूचकांक 0.05 प्रतिशत, हांगकांग का हैंग सेंगे 0.52 प्रतिशत मजबूत हुए.    

यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरुआती कारोबार में फ्रैंकफर्ट का डीएएक्स 0.28 प्रतिशत तथा पेरिस सीएसी 0.28 प्रतिशत मजबूत हुए. लंदन का एफटीएसई भी 0.19 प्रतिशत मजबूत हुआ.