सेंसेक्स 316 अंक उछलकर नई ऊंचाई पर, निफ्टी 12,700 अंक के ऊपर निकला

शेयर बाजारों में बुधवार को लगातार आठवें कारोबारी सत्र में तेजी रही और बीएसई सेंसेक्स 316.02 अंक की बढ़त के साथ रिकार्ड ऊंचाई पर बंद हुआ.

सेंसेक्स 316 अंक उछलकर नई ऊंचाई पर, निफ्टी 12,700 अंक के ऊपर निकला
मुंबई:

शेयर बाजारों में बुधवार को लगातार आठवें कारोबारी सत्र में तेजी रही और बीएसई सेंसेक्स 316.02 अंक की बढ़त के साथ रिकार्ड ऊंचाई पर बंद हुआ. मुख्य रूप से वैश्विक बाजारों में सकारात्मक रुख और मजबूत पूंजी प्रवाह से बाजार में तेजी आयी. तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स कारोबार के दौरान एक समय 43,708.47 अंक के सर्वकालिक उच्च स्तर तक चला गया था. अंत में यह 316.02 अंक यानी 0.73 प्रतिशत की तेजी के साथ 43,593.67 अंक पर बंद हुआ जो बंद की ऊंचाई का इसका नया रिकार्ड है. इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी कारोबार के दौरान 12,769.75 अंक तक चला गया था.

अंत में यह 118.05 अंक यानी 0.93 प्रतिशत की बढ़त के साथ 12,749.15 अंक के उच्चतम स्तर पर बंद हुआ. सेंसेक्स के शेयरों में सर्वाधिक लाभ में टाटा स्टील रही. इसमें करीब 8 प्रतिशत की तेजी आयी. इसके अलावा एक्सिस बैंक, बजाज फिनसर्व, आईटीसी, इन्फोसिस, सन फार्मा, कोटक बैंक, ओनजीसी और अल्ट्राटेक सीमेंट में भी अच्छी बढ़त दर्ज की गयी. दूसरी तरफ इंडसइंड बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज, टाइटन, एशियन पेंट्स और एचडीएफसी बैंक नुकसान में रहे. रिलायंस सिक्योरिटीज के संस्थागत कारोबार प्रमुख यश महाजन ने कहा कि घरेलू बाजारों में उत्साह बना हुआ है और लगातार आठवें कारोबारी सत्र में तेजी रही. इसका प्रमुख कारण बीओ एनटेक और फाइजर के संयुक्त रूप से विकसित कोरोना वायरस टीके को लेकर चीजें स्पष्ट होने से निवेशक उत्साहित हैं.

Newsbeep

इसके अलावा दूसरी तिमाही में कंपनियों के बेहतर परिणाम से भी धारणा पर अच्छा प्रभाव पड़ा है. उन्होंने कहा, ‘‘बाजार में बुधवार को कुछ समय के लिये उतार-चढ़ावा देखा गया. इसका कारण कुछ प्रमुख कंपनियों के शेयरों में मुनाफावसूली थी. लेकिन औषधि, धातु, आईटी और वाहन कंपनियों के शेयरों में तेजी से बाजार मजबूत हुआ. महाजन ने कहा कि इसके अलावा बिहार विधानसभा चुनाव में राजग (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) की जीत का भी बाजार पर अच्छा प्रभाव पड़ा. एशिया के अन्य बाजारों में शंघाई और हांगकांग नुकसान में जबकि सोल और टोक्यो लाभ में रहे. शुरूआती कारोबार में यूरोप के प्रमुख बाजारों में तेजी रही. इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड का भाव 3.12 प्रतिशत की बढ़त के साथ 44.98 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)