सप्ताह के अंतिम कारोबारी दिन शेयर बाजार में उछाल, 35,171.27 अंकों पर बंद हुआ सेंसेक्स

सकारात्मक वैश्विक संकेतों के बीच इंफोसिस, एचडीएफसी बैंक, टीसीएस और रिलायंस इंडस्ट्रीज जैसी कंपनियों के शेयरों में तेजी के दम पर सेंसेक्स शुक्रवार को 329 अंक से अधिक मजबूत हो गया.

सप्ताह के अंतिम कारोबारी दिन शेयर बाजार में उछाल, 35,171.27 अंकों पर बंद हुआ सेंसेक्स

प्रतीकात्मक तस्वीर

मुंबई:

सकारात्मक वैश्विक संकेतों के बीच इंफोसिस, एचडीएफसी बैंक, टीसीएस और रिलायंस इंडस्ट्रीज जैसी कंपनियों के शेयरों में तेजी के दम पर सेंसेक्स शुक्रवार को 329 अंक से अधिक मजबूत हो गया. बीएसई का 30 शेयरों वाले संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 329.17 अंक यानी 0.94 प्रतिशत की बढ़त के साथ 35,171.27 अंक पर बंद हुआ. इसी तरह एनएसई का निफ्टी भी 94.10 अंक यानी 0.90 प्रतिशत बढ़ कर 10,383 अंक पर पहुंच गया. सेंसेक्स की कंपनियों में इंफोसिस में सबसे अधिक सात प्रतिशत की तेजी रही. इसके बाद टीसीएस, इंडसइंड बैंक, ओएनजीसी, एचडीएफसी बैंक और एचसीएल टेक का स्थान रहा.दूसरी ओर, आईटीसी, बजाज फाइनेंस, कोटक बैंक और सन फार्मा के शेयर गिरावट में रहे.


कारोबारियों के अनुसार, मासिक डेरिवेटिव की नयी श्रृंखला के पहले दिन व्यापक स्तर पर हुई खरीद और वैश्विक शेयर बाजारों से सकारात्मक संकेतों ने सूचकांक को उठा दिया. एमके वेल्थ मैनेजमेंट के शोध प्रमुख जोसेफ थॉमस ने कहा कि पिछले दो सप्ताह की लगातार वृद्धि के बाद बाजार इस सप्ताह थोड़ा अस्थिर हो गया था. उन्होंने कहा, "यह मुख्य रूप से अमेरिका और भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में अभूतपूर्व वृद्धि, सीमा पर भारत और चीन के बीच तनाव तथा चीन और अमेरिका के बीच व्यापार तनाव सहित कई मुद्दों पर चल रहे विवाद से प्रभावित था.''


उन्होंने कहा कि सप्ताह के अधिकांश दिनों में घरेलू बाजारों ने अन्य वैश्विक बाजारों में व्यापक रुझान को दर्शाया. इस बीच एशियाई बाजारों में जापान का निक्की और दक्षिण कोरिया का कोस्पी महत्वपूर्ण लाभ के साथ बंद हुआ, जबकि हांगकांग का हैंगसेंग गिरावट में रहा. चीन का शंघाई कंपोजिट सार्वजनिक अवकाश के कारण बंद रहा. यूरोप में शेयर बाजार शुरुआती सौदों में करीब एक प्रतिशत की बढ़त में चल रहे थे. इस बीच, कच्चा तेल का अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क ‘ब्रेंट क्रूड' वायदा 1.27 प्रतिशत बढ़ कर 41.57 डॉलर प्रति बैरल हो गया. मुद्रा बाजार में रुपया शुरुआती लाभ को खोकर 75.65 रुपये प्रति डॉलर पर करीब करीब स्थिर बंद हुआ.