Profit

सेंसेक्स, निफ्टी में लगातार छठे कारोबारी सत्र में गिरावट, यस बैंक 31 प्रतिशत चढ़ा

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स कारोबार के दौरान 35,799.42 अंक से 36,109.10 अंक के दायरे में रहा. अंत में यह 157.89 अंक या 0.44 प्रतिशत के नुकसान से 35,876.22 अंक पर बंद हुआ.

 Share
EMAIL
PRINT
COMMENTS
सेंसेक्स, निफ्टी में लगातार छठे कारोबारी सत्र में गिरावट, यस बैंक 31 प्रतिशत चढ़ा

प्रतीकात्मक तस्वीर.


मुंबई: 

शेयर बाजारों में बृहस्पतिवार को लगातार छठे कारोबारी सत्र में गिरावट का सिलसिला जारी रहा. आईटी, धातु तथा ऊर्जा कंपनियों के शेयरों में गिरावट तथा विदेशी कोषों की निकासी और मिले जुले वैश्विक रुख के बीच सेंसेक्स 158 अंक और टूट गया. वहीं निफ्टी में भी करीब 48 अंक की गिरावट आई. बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स कारोबार के दौरान 35,799.42 अंक से 36,109.10 अंक के दायरे में रहा. अंत में यह 157.89 अंक या 0.44 प्रतिशत के नुकसान से 35,876.22 अंक पर बंद हुआ. पिछले पांच सत्रों में सेंसेक्स 840 अंक टूटा था. वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 47.60 या 0.44 प्रतिशत के नुकसान से 10,746.05 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान यह 10,718.75 से 10,792.70 अंक के दायरे में रहा.

सेंसेक्स की कंपनियों में भारती एयरटेल, इन्फोसिस, एशियन पेंट्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज, कोल इंडिया, एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी, टीसीएस, ओएनजीसी और महिंद्रा एंड महिंद्रा के शेयर 3.09 प्रतिशत तक टूट गए. वहीं दूसरी ओर यस बैंक का शेयर 30.73 प्रतिशत तक चढ़ गया. रिजर्व बैंक को 2017-18 के लिए बैंक द्वारा संपत्ति वर्गीकरण और प्रावधान में कोई खामी नहीं मिली है. इस खबर से बैंक का शेयर छलांग लगा गया.

अन्य कंपनियों में टाटा मोटर्स, सनफार्मा, इंडसइंड बैंक, बजाज फाइनेंस, आईसीआईसीआई बैंक और हीरो मोटोकॉर्प के शेयर 3.17 प्रतिशत तक चढ़ गए. तेल एवं गैस, आईटी, धातु, पीएसयू और सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियों के शेयरों में गिरावट आई. कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर चिंता के बीच ऊर्जा कंपनियों के शेयर भी नीचे आ गए. ब्रेंट कच्चा तेल 1.26 प्रतिशत चढ़कर 64.41 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया.

सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियों इंडियन आयल कॉरपोरेशन और भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन के शेयर 4.19 प्रतिशत तक नीचे आ गए. बीएसई मिडकैप 0.52 प्रतिशत तथा स्मॉलकैप 0.17 प्रतिशत लाभ में रहा. ब्रोकरों ने कहा विदेशी कोषों की निकासी तथा डॉलर के मुकाबले रुपये में कमजोरी से भी निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई. इस बीच, शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार बुधवार को विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने 676.63 करोड़ रुपये के शेयर बेचे, वहीं घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 713.10 करोड़ रुपये की लिवाली की.

जनवरी महीने में थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति 10 माह के निचले स्तर 2.76 प्रतिशत पर आ गई है. एशियाई बाजारों में मिलाजुला रुख रहा. जापान का निक्की 0.02 प्रतिशत टूट गया, शंघाई कम्पोजिट में 0.05 प्रतिशत तथा हांगकांग के हैंगसेंग में 0.21 प्रतिशत का नुकसान रहा. ताइवान में भी 0.02 प्रतिशत की गिरावट आई. वहीं दूसरी ओर दक्षिण कोरिया का कॉस्पी 1.11 प्रतिशत तथा सिंगापुर 0.06 प्रतिशत लाभ में रहा. शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजार लाभ में चल रहे थे.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

NDTV Beeps - your daily newsletter

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................

Top