एचडीएफसी म्यूचुअल फंड को आईपीओ के लिए सेबी की मंजूरी

किसी कंपनी को सार्वजनिक निर्गम लाने के लिए सेबी का निष्कर्ष जरूरी होता है. 

एचडीएफसी म्यूचुअल फंड को आईपीओ के लिए सेबी की मंजूरी

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

एचडीएफसी एसेट मैनेजमेंट कंपनी को आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के लिए भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) की मंजूरी मिल गई है. यह देश की सबसे बड़ी म्यूचुअल फंड कंपनी है. कंपनी ने सेबी के पास आईपीओ के लिए दस्तावेज मार्च में जमा कराए थे. 22 जून को कंपनी को इस पर सेबी का ‘निष्कर्ष’ मिल गया है. किसी कंपनी को सार्वजनिक निर्गम लाने के लिए सेबी का निष्कर्ष जरूरी होता है. 

एचडीएफसी एएमसी, एचडीएफसी और स्टैंडर्ड लाइफ इन्वेस्टमेंट्स का संयुक्त उद्यम है. दस्तावेजों के अनुसार कुल 2.54 करोड़ इक्विटी शेयरों की पेशकश की जाएगी. इसमें एचडीएफसी द्वारा 85.92 लाख शेयरों की पेशकश की जाएगी जबकि स्टैंडर्ड लाइफ 1.68 करोड़ शेयरों की पेशकश करेगी.

इससे पहले नियामक ने एचडीएफसी एएमसी के आईपीओ प्रस्ताव पर मंजूरी को पूर्व के उल्लंघनों की समीक्षा के लिए टाला हुआ था.