Profit
होम | Wpi

Wpi


'Wpi' - 8 News Result(s)

  • थोक मुद्रास्फीति अक्टूबर में गिरकर 0.16 प्रतिशत पर, साढ़े तीन साल का सबसे निचला स्तर

    थोक मुद्रास्फीति अक्टूबर में गिरकर 0.16 प्रतिशत पर, साढ़े तीन साल का सबसे निचला स्तर

    विनिर्मित उत्पादों के दाम में नरमी से थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति अक्टूबर महीने में गिरकर 0.16 प्रतिशत पर आ गई. यह इसका पिछले करीब साढ़े तीन साल का सबसे निचला स्तर है.

  • WPI आधारित मुद्रास्फीति सितंबर महीने में गिरकर 0.33 प्रतिशत पर

    WPI आधारित मुद्रास्फीति सितंबर महीने में गिरकर 0.33 प्रतिशत पर

    गैर - खाद्य सामग्रियों की कीमतें कम होने से थोक मूल्य सूचकांक आधारित (डब्ल्यूपीआई) मुद्रास्फीति सितंबर महीने में गिरकर 0.33 प्रतिशत पर आ गई. सोमवार को जारी सरकारी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई.

  • थोक मुद्रास्फीति जुलाई में घट कर 1.08 प्रतिशत पर, 25 महीने का न्यूनतम स्तर

    थोक मुद्रास्फीति जुलाई में घट कर 1.08 प्रतिशत पर, 25 महीने का न्यूनतम स्तर

    खाद्य सामग्री, ईंधन तथा विनिर्मित उत्पादों की कीमतें कम होने के कारण थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) आधारित मुद्रास्फीति जुलाई महीने में 1.08 प्रतिशत पर आ गयी. यह थोक मुद्रास्फीति में लगातार तीसरे महीने आयी कमी है यह 25 महीने के निम्नतम स्तर पर है.

  • अप्रैल के महीने में खुदरा महंगाई की दर 3.07 प्रतिशत रही

    अप्रैल के महीने में खुदरा महंगाई की दर 3.07 प्रतिशत रही

    अप्रैल के महीने में खुदरा महंगाई की दर 3.07 प्रतिशत रही है जो कि मार्च के महीने में तीन माह के उच्चतम स्तर  पर पहुंच गई 3.18 प्रतिशत से कम है. यह आंकड़े मंगलवार को सरकार की ओर से जारी किए गए हैं. वहीं सोमवार को आए एक और आंकड़े बताते हैं कि खुदरा महंगाई दर पिछले महीने बढ़कर 2.92 प्रतिशत बढ़ गई है.आंकड़ों से एक बार फिर उम्मीद बढ़ी है कि रिजर्व बैंक अगली मौद्रिक नीति में ब्याज दरें घटा सकती है.  

  • सितंबर में बढ़ी थोक महंगाई दर, दो महीने के उच्च स्तर पर पहुंची

    सितंबर में बढ़ी थोक महंगाई दर, दो महीने के उच्च स्तर पर पहुंची

    डब्ल्यूपीआई आधारित मुद्रास्फीति अगस्त में 4.53 प्रतिशत तथा पिछले साल सितंबर में 3.14 प्रतिशत थी.

  • मुद्रास्फीति बढ़ने से ब्याज दर वृद्धि की आशंका में रुपया टूटा

    मुद्रास्फीति बढ़ने से ब्याज दर वृद्धि की आशंका में रुपया टूटा

    रुपये में विगत तीन सत्रों से जारी तेजी थम गई और अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले यह करीब दो सप्ताह के उच्च स्तर से नीचे आ गया. डॉलर की ताजा मांग निकलने से रुपये की विनिमय दर सोमवार को चार पैसे गिरकर 68.57 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुई. 

  • खुदरा महंगाई के बाद जून में थोक महंगाई दर भी बढ़ी

    खुदरा महंगाई के बाद जून में थोक महंगाई दर भी बढ़ी

    सोमवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक थोक महंगाई दर जून में 5.77 प्रतिशत हो गई है. यह पिछले महीने के 4.43 प्रतिशत से ज्यादा हो गई है. पिछले साल इसी महीने के आंकड़े से यह 0.90 प्रतिशत अधिक है. खाने-पीने के आइटम के दाम थोक महंगाई दर के हिसाब से मई में यह दर 1.12 प्रतिशत बढ़ गया है. वहीं जून में यह 1.56 प्रतिशत तक हो गया है. 

  • थोक महंगाई दर भी गिरी, घटकर 2.47 फीसदी हुई

    थोक महंगाई दर भी गिरी, घटकर 2.47 फीसदी हुई

    देश की मार्च महीने की थोक मूल्य आधारित महंगाई दर (डब्ल्यूपीआई) में फरवरी के मुकाबले मामूली गिरावट आई है. मार्च में थोक महंगाई दर 2.47 फीसदी रही है. वहीं, फरवरी 2018 में यह दर 2.48 फीसदी थी. वाणिज्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, मार्च 2017 में डब्ल्यूपीआई महंगाई दर इससे दोगुनी से भी अधिक 5.11 फीसदी थी.

'Wpi' - 8 News Result(s)

  • थोक मुद्रास्फीति अक्टूबर में गिरकर 0.16 प्रतिशत पर, साढ़े तीन साल का सबसे निचला स्तर

    थोक मुद्रास्फीति अक्टूबर में गिरकर 0.16 प्रतिशत पर, साढ़े तीन साल का सबसे निचला स्तर

    विनिर्मित उत्पादों के दाम में नरमी से थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति अक्टूबर महीने में गिरकर 0.16 प्रतिशत पर आ गई. यह इसका पिछले करीब साढ़े तीन साल का सबसे निचला स्तर है.

  • WPI आधारित मुद्रास्फीति सितंबर महीने में गिरकर 0.33 प्रतिशत पर

    WPI आधारित मुद्रास्फीति सितंबर महीने में गिरकर 0.33 प्रतिशत पर

    गैर - खाद्य सामग्रियों की कीमतें कम होने से थोक मूल्य सूचकांक आधारित (डब्ल्यूपीआई) मुद्रास्फीति सितंबर महीने में गिरकर 0.33 प्रतिशत पर आ गई. सोमवार को जारी सरकारी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई.

  • थोक मुद्रास्फीति जुलाई में घट कर 1.08 प्रतिशत पर, 25 महीने का न्यूनतम स्तर

    थोक मुद्रास्फीति जुलाई में घट कर 1.08 प्रतिशत पर, 25 महीने का न्यूनतम स्तर

    खाद्य सामग्री, ईंधन तथा विनिर्मित उत्पादों की कीमतें कम होने के कारण थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) आधारित मुद्रास्फीति जुलाई महीने में 1.08 प्रतिशत पर आ गयी. यह थोक मुद्रास्फीति में लगातार तीसरे महीने आयी कमी है यह 25 महीने के निम्नतम स्तर पर है.

  • अप्रैल के महीने में खुदरा महंगाई की दर 3.07 प्रतिशत रही

    अप्रैल के महीने में खुदरा महंगाई की दर 3.07 प्रतिशत रही

    अप्रैल के महीने में खुदरा महंगाई की दर 3.07 प्रतिशत रही है जो कि मार्च के महीने में तीन माह के उच्चतम स्तर  पर पहुंच गई 3.18 प्रतिशत से कम है. यह आंकड़े मंगलवार को सरकार की ओर से जारी किए गए हैं. वहीं सोमवार को आए एक और आंकड़े बताते हैं कि खुदरा महंगाई दर पिछले महीने बढ़कर 2.92 प्रतिशत बढ़ गई है.आंकड़ों से एक बार फिर उम्मीद बढ़ी है कि रिजर्व बैंक अगली मौद्रिक नीति में ब्याज दरें घटा सकती है.  

  • सितंबर में बढ़ी थोक महंगाई दर, दो महीने के उच्च स्तर पर पहुंची

    सितंबर में बढ़ी थोक महंगाई दर, दो महीने के उच्च स्तर पर पहुंची

    डब्ल्यूपीआई आधारित मुद्रास्फीति अगस्त में 4.53 प्रतिशत तथा पिछले साल सितंबर में 3.14 प्रतिशत थी.

  • मुद्रास्फीति बढ़ने से ब्याज दर वृद्धि की आशंका में रुपया टूटा

    मुद्रास्फीति बढ़ने से ब्याज दर वृद्धि की आशंका में रुपया टूटा

    रुपये में विगत तीन सत्रों से जारी तेजी थम गई और अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले यह करीब दो सप्ताह के उच्च स्तर से नीचे आ गया. डॉलर की ताजा मांग निकलने से रुपये की विनिमय दर सोमवार को चार पैसे गिरकर 68.57 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुई. 

  • खुदरा महंगाई के बाद जून में थोक महंगाई दर भी बढ़ी

    खुदरा महंगाई के बाद जून में थोक महंगाई दर भी बढ़ी

    सोमवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक थोक महंगाई दर जून में 5.77 प्रतिशत हो गई है. यह पिछले महीने के 4.43 प्रतिशत से ज्यादा हो गई है. पिछले साल इसी महीने के आंकड़े से यह 0.90 प्रतिशत अधिक है. खाने-पीने के आइटम के दाम थोक महंगाई दर के हिसाब से मई में यह दर 1.12 प्रतिशत बढ़ गया है. वहीं जून में यह 1.56 प्रतिशत तक हो गया है. 

  • थोक महंगाई दर भी गिरी, घटकर 2.47 फीसदी हुई

    थोक महंगाई दर भी गिरी, घटकर 2.47 फीसदी हुई

    देश की मार्च महीने की थोक मूल्य आधारित महंगाई दर (डब्ल्यूपीआई) में फरवरी के मुकाबले मामूली गिरावट आई है. मार्च में थोक महंगाई दर 2.47 फीसदी रही है. वहीं, फरवरी 2018 में यह दर 2.48 फीसदी थी. वाणिज्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, मार्च 2017 में डब्ल्यूपीआई महंगाई दर इससे दोगुनी से भी अधिक 5.11 फीसदी थी.

Your search did not match any documents
A few suggestions
  • Make sure all words are spelled correctly
  • Try different keywords
  • Try more general keywords
Check the NDTV Archives:https://archives.ndtv.com

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com