Profit
होम | Ppf Account

Ppf Account


'Ppf Account' - 2 News Result(s)

  • अगर आपके पास है पीपीएफ (PPF) खाता, तब आप उठा सकते हैं ये लाभ, जानें 11 बातें

    अगर आपके पास है पीपीएफ (PPF) खाता, तब आप उठा सकते हैं ये लाभ, जानें 11 बातें

    पब्लिक प्रोविडेंट फंड खाता हर नौकरीपेशा का जरूरत है. उसे यह खाता समय रहते ही खुलवा लेना चाहिए. पीपीएफ निवेश का भी बढ़िया विकल्प माना जाता है. पीपीएफ में निवेशकों को सुनिश्चित और कर-मुक्त रुपया मिलता है. इस पर मिलने वाला ब्याज, आयकर की धारा 10 के अंतर्गत कर से छूट दिलाता है. यह बहुत कम लोगों को पता है कि PPF में निवेश के बाद भी समय से पहले जमा की निकासी, और जमा पर लोन तथा खाते को पहले बंद करने की सुविधा भी मिलती है.

  • किसमें लगाए पैसा, FD या PPF में बेहतर कौन?

    किसमें लगाए पैसा, FD या PPF में बेहतर कौन?

    आम तौर पर पीपीएफ और एफडी मुनाफे या कहें लाभ देने में लगभग समान माने जाते रहे हैं. इनमें मुख्य अंतर यह होता है कि पीपीएफ की अवधि 15 साल होती है जबकि एफडी की अवधि 5 साल या अलग-अलग हो सकती है. टैक्स छूट की बात करें तो दोनों पर 80 सी के अनुसार छूट मिलती है, लेकिन एफडी में पांच साल का लॉक-इन पीरड होने पर ही छूट मिलती है. एफडी पर मिलने वाले ब्याज पर कर चुकाना होता है जबकि पीपीएफ में मिलने वाले पैसे पर कई टैक्स नहीं देना होता. यानि यह टैक्स से पूरी तरह मुक्त होता है.

'Ppf Account' - 2 News Result(s)

  • अगर आपके पास है पीपीएफ (PPF) खाता, तब आप उठा सकते हैं ये लाभ, जानें 11 बातें

    अगर आपके पास है पीपीएफ (PPF) खाता, तब आप उठा सकते हैं ये लाभ, जानें 11 बातें

    पब्लिक प्रोविडेंट फंड खाता हर नौकरीपेशा का जरूरत है. उसे यह खाता समय रहते ही खुलवा लेना चाहिए. पीपीएफ निवेश का भी बढ़िया विकल्प माना जाता है. पीपीएफ में निवेशकों को सुनिश्चित और कर-मुक्त रुपया मिलता है. इस पर मिलने वाला ब्याज, आयकर की धारा 10 के अंतर्गत कर से छूट दिलाता है. यह बहुत कम लोगों को पता है कि PPF में निवेश के बाद भी समय से पहले जमा की निकासी, और जमा पर लोन तथा खाते को पहले बंद करने की सुविधा भी मिलती है.

  • किसमें लगाए पैसा, FD या PPF में बेहतर कौन?

    किसमें लगाए पैसा, FD या PPF में बेहतर कौन?

    आम तौर पर पीपीएफ और एफडी मुनाफे या कहें लाभ देने में लगभग समान माने जाते रहे हैं. इनमें मुख्य अंतर यह होता है कि पीपीएफ की अवधि 15 साल होती है जबकि एफडी की अवधि 5 साल या अलग-अलग हो सकती है. टैक्स छूट की बात करें तो दोनों पर 80 सी के अनुसार छूट मिलती है, लेकिन एफडी में पांच साल का लॉक-इन पीरड होने पर ही छूट मिलती है. एफडी पर मिलने वाले ब्याज पर कर चुकाना होता है जबकि पीपीएफ में मिलने वाले पैसे पर कई टैक्स नहीं देना होता. यानि यह टैक्स से पूरी तरह मुक्त होता है.

Your search did not match any documents
A few suggestions
  • Make sure all words are spelled correctly
  • Try different keywords
  • Try more general keywords
Check the NDTV Archives:https://archives.ndtv.com

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com