Profit
होम | विषय | Itr 2017-18

Itr 2017-18


'Itr 2017-18' - 7 News Result(s)

  • खबर का असर : सरकार ने आयकर रिटर्न दाखिल करने की तारीख 31 अगस्त तक बढ़ाई

    खबर का असर : सरकार ने आयकर रिटर्न दाखिल करने की तारीख 31 अगस्त तक बढ़ाई

    सरकार ने आयकर रिटर्न जमा करवाने की अंतिम तारीख 31 जुलाई के बजाए 31 अगस्त तक बढ़ा दी है. यह तारीख बढ़ाने का ऐलान सरकार ने इसलिए किया क्योंकि आईटीआर फाइल करने में लोगों को कई दिक्कतें आ रही थी. एनडीटीवी ने इससे जुड़ी खबर 25 तारीख को प्रकाशित की थी.

  • आईटीआर (ITR) भरने में कुछ दिन बचे हैं, लेकिन ऑनलाइन फाइल करने में आ रही हैं कई दिक्कतें

    आईटीआर (ITR) भरने में कुछ दिन बचे हैं, लेकिन ऑनलाइन फाइल करने में आ रही हैं कई दिक्कतें

    31 जुलाई तक आम करदाताओं को आईटीआर फाइल करना है. इस तारीख के करीब आने पर लोग में आईटीआर फाइल करने की तेजी बढ़ती जा रही है. लाखों लोग अंतिम तारीख के जल्दबाजी से बचने के लिए पहले ही आईटीआर फाइल करना चाहते हैं. इस बार आयकर विभाग आईटीआर भरने की तारीख को आगे बढ़ने के मूड में भी नहीं दिख रहा है.

  • 31 जुलाई बाद आईटीआर दाखिल करने पर 5000 रुपये जुर्माना

    31 जुलाई बाद आईटीआर दाखिल करने पर 5000 रुपये जुर्माना

    अगर आपने अबतक आयकर रिटर्न दाखिल नहीं किया है तो अब और देर मत कीजिए, क्योंकि शुल्क मुक्त आयकर दाखिल करने की आखिरी तारीख 31 जुलाई, 2018 है. इसके बाद आयकर दाखिल करने वालों को 5,000 रुपये जुर्माना भरना पड़ेगा.

  • आयकर रिटर्न दाखिल किया क्या, एफडी (Fixed Deposits FD) से जुड़े ये 5 नियम जरूर जान लें

    आयकर रिटर्न दाखिल किया क्या, एफडी (Fixed Deposits FD) से जुड़े ये 5 नियम जरूर जान लें

    31 जुलाई तक सभी आयकर दाताओं को अपना रिटर्न फाइल करना है. यह कानून जरूरी है. लेकिन ऐसा देखा गया है कि कई बार नियमों की जानकारी नहीं होने की वजह से कुछ आयकरदाता सही से रिटर्न फाइल नहीं कर पाते हैं और बाद में आयकर विभाग के नोटिस और जवाब का सिलसिला शुरू हो जाता है. ऐसे में समय बरबाद होता है और कई प्रकार की दिक्कतों का भी सामना करना पड़ता है. कई बार तो जुर्माना भी पड़ता है और कोर्ट कचहरी के चक्कर तक काटने पड़ जाते हैं.

  • ITR 2018: जल्द फाइल आयकर रिटर्न, नहीं तो 10000 रुपये तक का है जुर्माना

    ITR 2018: जल्द फाइल आयकर रिटर्न, नहीं तो 10000 रुपये तक का है जुर्माना

    इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करने की आखिरी तारीख 31 जुलाई 2018 है. अभी भी करोड़ों करदाताओं ने अपना रिटर्न फाइल नहीं किया है. अमूमन देखा गया है कि करदाता महीने के आखिरी सप्ताह में ही रिटर्न दाखिल करते हैं. इतना ही कई लोग को अंतिम तारीख का इंतजार करते रहते हैं और अंतिम तारीख पर रिटर्न दाखिल करते हैं

  • ITR 2018-19 या कहें वित्त वर्ष 2017-18 के लिए इनकम टैक्स स्लैब

    ITR 2018-19 या कहें वित्त वर्ष 2017-18 के लिए इनकम टैक्स स्लैब

    आयकर रिटर्न भरने का समय चल रहा है. सभी करदाताओं को को 31 जुलाई तक अपने अपने रिटर्न फाइल करने हैं. वित्त वर्ष 2017-18 या कहें आकलन वर्ष 2018-19 (एसेसमेंट ईयर Assesment Year 2018-19) के लिए आयकर (इनकम टैक्स) रिटर्न भरने में कई लोग लग गए हैं. अकसर देखा गया है कि लोगों को ऐसे समय लोगों को इनकम टैक्स स्लैब की जानकारी की जरूरत पड़ती है. उस यह देखना होता है कि वह किस स्लैब या कहें कि आयकर के दायरे में आता है जिसके हिसाब से उसे सरकार को कर देना होगा. 

  • इनकम टैक्स से जुड़े 10 नियम-कानून, जो अप्रैल, 2018 से बदल गए हैं

    इनकम टैक्स से जुड़े 10 नियम-कानून, जो अप्रैल, 2018 से बदल गए हैं

    आयकर रिटर्न फाइल करने का वक्त चल रहा है. ऐसे में सभी लोगों को यह चिंता सताती है कि आयकर नियमों में सरकार ने क्या बदलाव किया है. उन्हें इन बदलावों के हिसाब से रिटर्न फाइल करने की चिंता रहती है. ऐसे में यह चिंता उन लोगों को ज्यादा हो जाती है जो बिना किसी की मदद के खुद  ही आयकर रिटर्न फाइल करते हैं. 

'Itr 2017-18' - 7 News Result(s)

  • खबर का असर : सरकार ने आयकर रिटर्न दाखिल करने की तारीख 31 अगस्त तक बढ़ाई

    खबर का असर : सरकार ने आयकर रिटर्न दाखिल करने की तारीख 31 अगस्त तक बढ़ाई

    सरकार ने आयकर रिटर्न जमा करवाने की अंतिम तारीख 31 जुलाई के बजाए 31 अगस्त तक बढ़ा दी है. यह तारीख बढ़ाने का ऐलान सरकार ने इसलिए किया क्योंकि आईटीआर फाइल करने में लोगों को कई दिक्कतें आ रही थी. एनडीटीवी ने इससे जुड़ी खबर 25 तारीख को प्रकाशित की थी.

  • आईटीआर (ITR) भरने में कुछ दिन बचे हैं, लेकिन ऑनलाइन फाइल करने में आ रही हैं कई दिक्कतें

    आईटीआर (ITR) भरने में कुछ दिन बचे हैं, लेकिन ऑनलाइन फाइल करने में आ रही हैं कई दिक्कतें

    31 जुलाई तक आम करदाताओं को आईटीआर फाइल करना है. इस तारीख के करीब आने पर लोग में आईटीआर फाइल करने की तेजी बढ़ती जा रही है. लाखों लोग अंतिम तारीख के जल्दबाजी से बचने के लिए पहले ही आईटीआर फाइल करना चाहते हैं. इस बार आयकर विभाग आईटीआर भरने की तारीख को आगे बढ़ने के मूड में भी नहीं दिख रहा है.

  • 31 जुलाई बाद आईटीआर दाखिल करने पर 5000 रुपये जुर्माना

    31 जुलाई बाद आईटीआर दाखिल करने पर 5000 रुपये जुर्माना

    अगर आपने अबतक आयकर रिटर्न दाखिल नहीं किया है तो अब और देर मत कीजिए, क्योंकि शुल्क मुक्त आयकर दाखिल करने की आखिरी तारीख 31 जुलाई, 2018 है. इसके बाद आयकर दाखिल करने वालों को 5,000 रुपये जुर्माना भरना पड़ेगा.

  • आयकर रिटर्न दाखिल किया क्या, एफडी (Fixed Deposits FD) से जुड़े ये 5 नियम जरूर जान लें

    आयकर रिटर्न दाखिल किया क्या, एफडी (Fixed Deposits FD) से जुड़े ये 5 नियम जरूर जान लें

    31 जुलाई तक सभी आयकर दाताओं को अपना रिटर्न फाइल करना है. यह कानून जरूरी है. लेकिन ऐसा देखा गया है कि कई बार नियमों की जानकारी नहीं होने की वजह से कुछ आयकरदाता सही से रिटर्न फाइल नहीं कर पाते हैं और बाद में आयकर विभाग के नोटिस और जवाब का सिलसिला शुरू हो जाता है. ऐसे में समय बरबाद होता है और कई प्रकार की दिक्कतों का भी सामना करना पड़ता है. कई बार तो जुर्माना भी पड़ता है और कोर्ट कचहरी के चक्कर तक काटने पड़ जाते हैं.

  • ITR 2018: जल्द फाइल आयकर रिटर्न, नहीं तो 10000 रुपये तक का है जुर्माना

    ITR 2018: जल्द फाइल आयकर रिटर्न, नहीं तो 10000 रुपये तक का है जुर्माना

    इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करने की आखिरी तारीख 31 जुलाई 2018 है. अभी भी करोड़ों करदाताओं ने अपना रिटर्न फाइल नहीं किया है. अमूमन देखा गया है कि करदाता महीने के आखिरी सप्ताह में ही रिटर्न दाखिल करते हैं. इतना ही कई लोग को अंतिम तारीख का इंतजार करते रहते हैं और अंतिम तारीख पर रिटर्न दाखिल करते हैं

  • ITR 2018-19 या कहें वित्त वर्ष 2017-18 के लिए इनकम टैक्स स्लैब

    ITR 2018-19 या कहें वित्त वर्ष 2017-18 के लिए इनकम टैक्स स्लैब

    आयकर रिटर्न भरने का समय चल रहा है. सभी करदाताओं को को 31 जुलाई तक अपने अपने रिटर्न फाइल करने हैं. वित्त वर्ष 2017-18 या कहें आकलन वर्ष 2018-19 (एसेसमेंट ईयर Assesment Year 2018-19) के लिए आयकर (इनकम टैक्स) रिटर्न भरने में कई लोग लग गए हैं. अकसर देखा गया है कि लोगों को ऐसे समय लोगों को इनकम टैक्स स्लैब की जानकारी की जरूरत पड़ती है. उस यह देखना होता है कि वह किस स्लैब या कहें कि आयकर के दायरे में आता है जिसके हिसाब से उसे सरकार को कर देना होगा. 

  • इनकम टैक्स से जुड़े 10 नियम-कानून, जो अप्रैल, 2018 से बदल गए हैं

    इनकम टैक्स से जुड़े 10 नियम-कानून, जो अप्रैल, 2018 से बदल गए हैं

    आयकर रिटर्न फाइल करने का वक्त चल रहा है. ऐसे में सभी लोगों को यह चिंता सताती है कि आयकर नियमों में सरकार ने क्या बदलाव किया है. उन्हें इन बदलावों के हिसाब से रिटर्न फाइल करने की चिंता रहती है. ऐसे में यह चिंता उन लोगों को ज्यादा हो जाती है जो बिना किसी की मदद के खुद  ही आयकर रिटर्न फाइल करते हैं. 

Your search did not match any documents
A few suggestions
  • Make sure all words are spelled correctly
  • Try different keywords
  • Try more general keywords
Check the NDTV Archives:https://archives.ndtv.com

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................