भारतीय स्टेट बैंक को चालू वित्त वर्ष में 12-14 प्रतिशत की ऋण वृद्धि की उम्मीद

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) को इस वित्त वर्ष ऋण कारोबार में 'संतोषजनक' 12 से 14 प्रतिशत की ऋण वृद्धि की उम्मीद है. बैंक के चेयरमैन रजनीश कुमार ने रविवार को यह बात कही.

भारतीय स्टेट बैंक को चालू वित्त वर्ष में 12-14 प्रतिशत की ऋण वृद्धि की उम्मीद

प्रतीकात्मक फोटो.

कोलकाता:

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) को इस वित्त वर्ष ऋण कारोबार में 'संतोषजनक' 12 से 14 प्रतिशत की ऋण वृद्धि की उम्मीद है. बैंक के चेयरमैन रजनीश कुमार ने रविवार को यह बात कही. पिछले वित्त वर्ष में बैंक की ऋण वृद्धि दर 14 प्रतिशत रही. कुमार ने कहा, 'बैंक के बैलेंस शीट का आकार देखते हुए 12 से 14 प्रतिशत की ऋण वृद्धि दर संतोषजनक है.' कुमार यहां इस क्षेत्र की एसबीआई शाखाओं के प्रबंधकों के बहुस्तरीय परामर्श कार्यक्रम में भाग लेने आए थे.

उन्होंने कहा कि बैंक का ऋण पोर्टफोलियो करीब 23 लाख करोड़ रुपये का है. उन्होंने कहा कि बैंक के पास कर्ज देने को पर्याप्त धन है. कुमार ने कहा, 'अभी कॉरपोरेट ऋण की मांग में तेजी की जरूरत है.' उन्होंने कहा कि बैंक के कुल ऋण कोरोबार में खुदरा ऋण की 57 प्रतिशत और कॉरपोरेट ऋण की 43 प्रतिशत हिस्सेदारी है. उन्होंने कहा कि इसके अनुपात में कोई बड़ा बदलाव आने का अनुमान नहीं है. 

कृषि ऋण में बढ़ते एनपीए के बारे में कुमार ने कहा, 'कृषि ऋण से निपटने की जरूरत है. कृषि में अधिक एनपीए चिंता का विषय है. कृषि ऋणों का अटकना एक बड़ा मुद्दा है.' उन्होंने कहा कि कृषि ऋण माफी योजनाओं के कारण कृषि क्षेत्र में ऋण का प्रवाह प्रभावित हुआ है. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)