एसबीआई ने की MCLR में 0.10 प्रतिशत की कटौती

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने कोष की सीमान्त लागत आधारित ऋण दर (MCLR) में 0.10 प्रतिशत की कटौती की है.

एसबीआई ने की MCLR में 0.10 प्रतिशत की कटौती

एसबीआई ने घटाया MCLR का प्रतिशत

मुंबई:

सार्वजनिक क्षेत्र की प्रमुख भारतीय बैंक, भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने कोष की सीमान्त लागत आधारित ऋण दर (MCLR) में 0.10 प्रतिशत की कटौती की है. एसबीआई ने सोमवार को कहा कि यह कटौती सभी एक साल के उत्पादों के लिए होगी कटौती को मंगलवार से लागू किया जाएगा. चालू वित्त वर्ष में एसबीआई ने MCLR में लगातार आठवीं बार कटौती की है.
एसबीआई ने बयान में कहा, ‘‘कोष की घटती लागत का लाभ ग्राहकों को देने के लिए हमें MCLR 0.10 प्रतिशत की कटौती करने का फैसला किया है.' अब नयी एक साल की कोष की सीमान्त लागत आधारित ऋण दर 7.90 प्रतिशत होगी. अभी यह आठ प्रतिशत है.

भारतीय रिजर्व बैंक ने गुरुवार को मौद्रिक नीति समीक्षा में नीतिगत दर में कोई बदलाव नहीं किया. केन्द्रीय बैंक ने मुख्य दर रेपो को 5.15 प्रतिशत पर बरकरार रखते हुये अर्थव्यवस्था को समर्थन देने के वास्ते अपने रुख को उदार बनाये रखा है. हालांकि, केंद्रीय बैंक ने इसके साथ ही 2019-20 में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) वृद्धि दर का अनुमान एक प्रतिशत से ज्यादा घटाकर पांच प्रतिशत कर दिया. इससे पहले अक्टूबर में जारी मौद्रिक नीति समीक्षा में यह अनुमान 6.1 प्रतिशत पर था. चालू वित्त वर्ष में केंद्रीय बैंक की यह पांचवी द्विमासिक मौद्रिक समीक्षा है. मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की तीन दिवसीय बैठक मंगलवार को शुरू हुई थी.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
More News