Profit
होम | आपका पैसा | Savings and Investments

Savings and Investments

  • नौकरी बदलने पर खुद-ब-खद होगा ईपीएफ ट्रांस्फर, ईपीएफओ कर रहा तैयारी
    कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के सदस्यों को अगले वित्त वर्ष से नौकरी बदलने पर ईपीएफ राशि स्थानांतरण करने का अनुरोध करने की आवश्यकता नहीं होगी. इस प्रक्रिया को स्वचालित बनाने पर काम चल रहा है. श्रम मंत्रालय के एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी. अभी ईपीएफओ के सदस्यों को सार्वभौमिक खाता संख्या (यूएएन) रखने के बाद भी ईपीएफ स्थानांतरण करने के लिये अलग से अनुरोध करना पड़ता है.
  • अब केंद्र के अधीन काम करने वाली इन कंपनियों के लाखों कर्मचारियों को मिलेगा पेंशन योजना का लाभ
    देश में सरकारी स्टील कंपनियों में काम करने वाले लाखों लोगों के लिए बड़ी खुशखबरी है. यहां पर काम करने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों को अब पेंशन स्कीम का फायदा मिलेगा. बता दें कि कुछ साल पहले सरकार ने सेना को छोड़ कर सरकारी नौकरियों में पेंशन की व्यवस्था को पूरी तरह से खत्म कर दिया था.
  • Sukanya Samriddhi Yojana : खाता खुलवाने के लिए न्यूनतम सीमा 250 रुपये की गई
    सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना में सालाना न्यूनतम जमा की सीमा को 1,000 रुपये से घटाकर 250 रुपये कर दिया है. इस कदम से अब अधिक से अधिक लोग इस योजना का लाभ उठा सकेंगे. सरकार ने सुकन्या समृद्धि खाता नियम, 2016 में संशोधन किया है. इसमें कहा गया है कि इस खाते को खोलने के लिए अब 250 रुपये ही जमा कराने की जरूरत होगी. साथ ही सालाना इस खाते में 1,000 रुपये के बजाय 250 रुपये जमा कराने की ही अनिवार्यता होगी. 
  • EPFO ने जमा और निकासी करने के नियमों  में हाल में किए ये बदलाव
    रिटायरमेंट से जुड़े कर्मचारियों के फंड की रखरखाव करने वाली संस्था ईपीएफओ यानी कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने हाल ही में अपने कुछ नियमों में बदलाव किया. खाताधारकों को पीएफ (PF) अंशधारकों के लिए ईपीएफओ (EPFO) द्वारा समय समय पर जारी किए जाने वाले निर्देश और नियमों में बदलावों से अवगत रहना बहुत जरूरी होता है. इससे समय पड़ने पर दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ता.
  • हजारों नौकरीपेशा को होगा फायदा, निजी पीएफ ट्रस्टों का ईपीएफओ में विलय
    देश में करोड़ों वेतनभोगी लोगों के पेंशन फंड और भविष्य निधि फंड की देखभाल करने वाली संस्था ईपीएफओ की जिम्मेदारी बढ़ गई है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस संबंध में एक नोटिफिकेशन जारी किया है. राष्ट्रपति के इस नोटिफिकेशन के साथ देश में मौजूद कई संस्था के पीएफ ट्रस्ट अब सीधे ईपीएफओ के अधीन आ गए हैं. 
  • ITR 2018-19 : HRA पर मिलने वाली छूट को ऐसे करें कैल्कुलेट
    ज़्यादातर नौकरीपेशा लोगों को इनकम टैक्स रिटर्न (आईटीआर) भरना, या वित्तवर्ष की शुरुआत में उससे जुड़ी बचत घोषणाएं करना झंझट का काम लगता है, क्योंकि बहुत-से लोगों को इसकी बारीक समझ नहीं होती. वैसे, सही बचत घोषणाएं करने से कोई भी शख्स इनकम टैक्स बचा भी सकता है, और सालभर के लिए अपने खर्चों की प्लानिंग भी बेहतर तरीके से कर सकता है.
  • लोक भविष्य निधि (PPF), अन्य लघु बचत योजनाओं पर ये है मौजूदा ब्याज दर
    सरकार ने राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (एनएससी) और लोक भविष्य निधि (पीपीएफ) समेत लघु बचत योजनाओं पर जुलाई-सितंबर के लिये ब्याज दर में कोई बदलाव नहीं किया है. लघु बचत योजनाओं पर ब्याज दरों को तिमाही आधार पर अधिसूचित किया जाता है.
  • पीएफ खाते से मोबाइल नंबर है रजिस्टर्ड, तो एक मिस कॉल से जानें बैलेंस और उठाएं इन सुविधाओं का लाभ
    देश में हर नौकरीपेशा का पीएफ (PF) खाता होता है. यह नियम है.  हर कंपनी को ऐसा करना होता है. यह खाता हर कर्मचारी के भविष्य के लिए की गई बचत है. इस पर ब्याज भी बैंकों के बराबर या फिर ज्यादा होता है और यहां से मिलने वाला पैसा  करमुक्त होता है. यही कारण की बैंक खाते से कहीं ज्यादा पीएफ (भविष्य निधि  provident fund) के खाते के  बारे में कर्मचारी  को सजग  रहना  चाहिए और समय-समय पर अपडेट होना चाहिए.
  • कम पैसे निवेश कर करोड़पति बनने का है ये रास्ता, टॉप 5 निवेश विकल्प
    सुनिश्चित निवेश कर करोड़पति बनने का सपना सभी का होता है. इतना ही नहीं लोग, खासतौर पर नौकरीपेशा, यह चाहते हैं कि रिटायरमेंट तक करोड़पति बन जाऊं. असल ज़िन्दगी में ऐसा कोई तरीका नहीं होता, जिसमें कुछ हज़ार रुपये का निवेश हमें करोड़ों रुपये का रिटर्न दे सके. अगर कुछ ऐसा होगा भी, तो हाथ आने वाले करोड़ों रुपये पर टैक्स देना पड़ेगा, और रकम फिर कम हो जाएगी. आप कानूनी तरीके से करोड़ों रुपये की कमाई कर सकते हैं, लेकिन अब यह टैक्स फ्री नहीं रही है. इस बार बजट में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस पर टैक्स लगा दिया है. 
  • Mutual funds क्या हैं, इसके बारे में पूरी जानकारी यहां पढ़ें
    अगर आप नौकरीपेशा हैं और घर के खर्चे के बाद कुछ पैसा बचा पाते हैं और इसकी हाल फिलहाल में कोई आवश्यकता नहीं है तो आप इसे निवेश कर सकते हैं. क्यों यदि आप निवेश नहीं कर रहे हैं तो आप गलती कर रहे हैं, आप अपना नुकसान खुद कर रहे हैं. कारण साफ है कि अगर 10 साल यह पैसा ऐसा ही पड़ा रहा तो यह आपको क्या देगा. कुछ नहीं. इतना ही नहीं इसकी कीमत तब तक कम हो चुकी होगी और पैसा का बाजार मूल्ट घट चुका होगा. यानी 10 साल बाद जब आप यह पैसा लेकर बाजार में जाएंगे तक इतने पैसे में कम सामान खरीदेंगे जो आप आज खरीद पाते.
  • खुद PF जांचने के पांच आसान तरीके यहां पढ़ें
    नौकरीपेशा के लिए पीएफ (Provident Fund) यानी भविष्य निधि बेहद खास है. ये केवल निवेश ही नहीं बचत भी है. यह बचत भविष्य के लिए है, भविष्य में किसी बड़ी जरूरत के लिए. इसलिए हर नौकरीपेशा या वेतन लेने वाले के लिए यह खाता बेहद जरूरी हो जाता है. इसमें जमा किया गया पैसा रिटायरमेंट तक न ही निकाला जाए तो अच्छा है. वैसे पीएफ अकाउंट में कितने पैसे जमा हैं और यह नियमित रूप से जमा हो रहे या नहीं, यह समय समय पर जांचते रहना चाहिए. इसके लिए कोई लंबी चौड़ी कोशिश करने की जरूरत नहीं है. ऑनलाइन और अन्य कुछ सुविधाओं के जरिए भी इस संबंध में जानकारी ली जा सकती है. इसके 5 आसान से उपाय हैं.
  • अच्छी खबर : नौकरी जाने के 30 दिन बाद अब EPFO से निकाल सकेंगे 75% राशि
    कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के सदस्य के पास अब एक महीने तक बेरोजगार रहने की स्थिति में 75% तक राशि निकालने का विकल्प होगा और इस तरह वह अपने खाते को भी बरकरार रख सकते हैं. श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने ईपीएफओ के न्यासियों की बैठक के बाद यह जानकारी दी. गंगवार ईपीएफओ के न्यासियों के केंद्रीय बोर्ड के चेयरमैन भी हैं.
  • क्या आपने खरीदा विस्तारा का यह सस्ता एयर टिकट, बस कुछ घंटे हैं बाकी
    निजी एयरलाइंस विस्तारा ने केवल 24 घंटों के लिए शुरुआती मॉनसून फ्लैश सेल शुरू की है, जिसके तहत एयरलाइन के तीनों केबिन वर्गो में 75 फीसदी की छूट दी जाएगी. 
  • जानें आयकर कानून की धारा 80 सी, उठाएं इसका ज्यादा लाभ
    देश के हर नागरिक को अपनी आय पर कर देना होता है. कुछ लोगों को आय कम होने की वजह से कर से छूट प्राप्त होती है जबकि बाकी सभी को अपना आयकर रिटर्न दाखिल करना होता है. इसी के आधार पर सरकार को कर देना होता है. सरकार अपनी ओर से कई माध्यमों के जरिए लोगों को कर में छूट का लाभ देती है. देश के हर नागरिक को अपनी आय पर कर देना होता है. कुछ लोगों को आय कम होने की वजह से कर से छूट प्राप्त होती है जबकि बाकी सभी को अपना आयकर रिटर्न दाखिल करना होता है. इसी के आधार पर सरकार को कर देना होता है. सरकार अपनी ओर से कई माध्यमों के जरिए लोगों को कर में छूट का लाभ देती है. इसके लिए सरकार ने कई नियम बनाएं हैं. ये नियम आयकर कानून के तहत लोगों को छूट प्रदान करते हैं.  
  • बचत खाते पर 50000 हजार रुपये सालाना तक मिलने वाला ब्याज भी है कर मुक्त लेकिन...
    अमूमन माना जाता है कि सरकार देश चलाने के लिए ज्यादा से ज्यादा आय पर कोई न कोई टैक्स लगाती है. किसी न किसी रूप में टैक्स लगाकर सरकार अपना खजाना भरती और देश का संचालन करती है. यह टैक्स नौकरी पेशा की गाढ़ी कमाई पर भी लगता है और वह जो बचत करता है उस पर भी टैक्स लगता है. समय-समय पर जनता से मिलते फीडबैक पर सरकार नई योजना और नए छूट के नियम भी तैयार करती है ताकि लोग छूट का लाभ ले सकें.

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................