हरित प्रमाणपत्रों की बिक्री अक्टूबर में 2.25 प्रतिशत घटकर 6.87 लाख पर

आईईएक्स के आंकड़ों के अनुसार गैर सौर और सौर आरईसी दोनों की आपूर्ति कम हुई है. कम भंडारण की वजह से खरीद बोलियां बिक्री बोलियों से अधिक रही हैं.

हरित प्रमाणपत्रों की बिक्री अक्टूबर में 2.25 प्रतिशत घटकर 6.87 लाख पर
नई दिल्ली:

देश में अक्षय ऊर्जा प्रमाणपत्रों की बिक्री अक्टूबर में 2.25 प्रतिशत घटकर 6.87 लाख इकाई रह गई. एक साल पहले समान महीने में यह 7.03 लाख इकाई थी. आपूर्ति कम रहने की वजह से हरित प्रमाणपत्रों की बिक्री में गिरावट आई है. आधिकारिक आंकड़ों से यह जानकारी मिली है. इंडियन एनर्जी एक्सचेंज (आईईएक्स) और पावर एक्सचेंज आफ इंडिया (पीएक्सआईएल) दो बिजली एक्सचेंज हैं जो अक्षय ऊर्जा प्रमाणपत्रों (आरईसी) तथा बिजली का कारोबार करते हैं.

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार अक्टूबर में आईईएक्स पर कुल 4.48 लाख आरईसी का कारोबार हुआ. एक साल पहले समान महीने में यह 4.25 लाख था. वहीं पीएक्सआईएल पर आरईसी की बिक्री 2.38 लाख रही, जो अक्टूबर, 2018 में 2.77 लाख इकाई थी.

आईईएक्स के आंकड़ों के अनुसार गैर सौर और सौर आरईसी दोनों की आपूर्ति कम हुई है. कम भंडारण की वजह से खरीद बोलियां बिक्री बोलियों से अधिक रही हैं. आईईएक्स में अक्टूबर में आरईसी की खरीद के लिए 13.88 लाख और बिक्री के लिए 5.75 लाख बोलियां आईं. इसी तरह पीएक्सआईएल पर 5.37 लाख खरीद और 2.6 लाख बिक्री बोलियां मिलीं.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
More News