रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में उछाल से सेंसेक्स 524 अंक चढ़ा, निफ्टी 10,200 अंक के पार

शेयर बाजारों में तेजी का सिलसिला शुक्रवार को लगातार दूसरी दिन जारी रहा. रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में उछाल से सेंसेक्स 524 अंक और चढ़ गया.

रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में उछाल से सेंसेक्स 524 अंक चढ़ा, निफ्टी 10,200 अंक के पार

शुक्रवार को शेयर बाजार में उछाल

हाइलाइट्स

  • शुक्रवार को शेयर बाजार में उछाल
  • रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में तेजी
  • शुक्रवार को लगातार दुसरे दिन शेयर बाजार में उछाल
मुंबई:

शेयर बाजारों में तेजी का सिलसिला शुक्रवार को लगातार दूसरी दिन जारी रहा. रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में उछाल से सेंसेक्स 524 अंक और चढ़ गया. कंपनी ने घोषणा की है कि वह अब शुद्ध रूप से कर्जमुक्त हो गई है. कारोबारियों ने कहा कि इसके अलावा वैश्विक बाजारों के सकारात्मक रुख से भी बाजार धारणा को बल मिला. बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स दिन में कारोबार के दौरान एक समय 640.32 अंक तक चढ़ गया. अंत में यह 523.68 अंक या 1.53 प्रतिशत की बढ़त के साथ 34,731.73 अंक पर बंद हुआ. इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 152.75 अंक या 1.51 प्रतिशत की बढ़त से 10,200 अंक के पार 10,244.40 अंक पर बंद हुआ.


साप्ताहिक आधार पर सेंसेक्स 950.85 अंक या 2.81 प्रतिशत तथा निफ्टी 271.50 अंक या 2.72 प्रतिशत लाभ में रहे.
रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर छह प्रतिशत के लाभ के साथ अपने सर्वकालिक उच्चस्तर पर पहुंच गया. मुकेश अंबानी ने कहा है कि उनकी प्रमुख कंपनी अब पूरी तरह से ऋणमुक्त हो चुकी है. पिछले दो माह के दौरान कंपनी ने 1.69 लाख करोड़ रुपये जुटाए हैं.सेंसेक्स की अन्य कंपनियों में बजाज फाइनेंस, पावरग्रिड, आईसीआईसीआई बैंक, मारुति, एक्सिस बैंक और भारतीय स्टेट बैंक के शेयर भी लाभ के साथ बंद हुए.वहीं दूसरी ओर इंडसइंड बैंक, एचसीएल टेक, आईटीसी, महिंद्रा एंड महिंद्रा, एचडीएफसी और इन्फोसिस के शेयरों में 2.94 प्रतिशत तक की गिरावट आई.

विश्लेषकों ने कहा कि शेयर आधारित गतिविधियों, वैश्विक बाजारों में मजबूती तथा विदेशी कोषों के ताजा प्रवाह से बाजार धारणा मजबूत हुई.कोटक सिक्योरिटीज के उपाध्यक्ष पीसीजी शोध संजीव जरबादे ने कहा, ‘‘यह सप्ताह वैश्विक बाजारों के लिए अच्छा रहा. अर्थव्यवस्थाओं को खोलने से धारणा सकारात्मक रही. इससे अमेरिका और चीन में कोविड-19 के नए मामले आने के बावजूद बाजारों में तेजी रही.''उन्होंने कहा कि कारोबारी गतिविधियां धीरे-धीरे खुलने से बाजार का ‘मूड' अच्छा हो रहा है. उन्होंने कहा कि निकट भविष्य में निवेशकों को सतर्कता बरतने की जरूरत है. उन्होंने भारत और चीन के बीच भू राजनीतिक घटनक्रमों पर ध्यान देने के अलावा मूल्यांकन पर भी ध्यान देना होगा. कोविड-19 के नए मामले सामने आने और दूसरे दौर के संक्रमण की खबरें बाजार के लिए जोखिम की स्थिति पैदा करेंगी.


इस बीच, शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बृहस्पतिवार को शुद्ध रूप से 366.57 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे. बीएसई मिडकैप और स्मॉलकैप में 1.37 प्रतिशत तक की बढ़त दर्ज हुई. चीन का शंघाई कम्पोजिट, हांगकांग का हैंगसेंग, दक्षिण कोरिया का कॉस्पी तथा जापान का निक्की लाभ में रहे. शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजार भी लाभ में चल रहे थे.अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क ब्रेंट कच्चा तेल वायदा 2.51 प्रतिशत की बढ़त के साथ 42.55 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया. अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया छह पैसे टूटकर 76.20 प्रति डॉलर पर बंद हुआ.


स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में एक दिन में कोविड-19 संक्रमण के रिकॉर्ड 13,586 नए मामले सामने आए है. इस तरह देश में इस महामारी से संक्रमित लोगों की संख्या 3,80,532 पर पहुंच गई है. अब तक देश में इस महामारी से 12,573 लोगों की जान जा चुकी है.


 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)