एनसीआर में रियल एस्टेट बाजार में 90 फीसदी तेजी : नाइट फ्रैंक

नाइट फ्रैंक इंडिया द्वारा बुधवार को जारी प्रमुख अर्ध वार्षिक रिपोर्ट 'इंडिया रियल एस्टेट' के नौवां संस्करण में यह जानकारी दी गई.

एनसीआर में रियल एस्टेट बाजार में 90 फीसदी तेजी : नाइट फ्रैंक

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

साल 2018 की पहली छमाही में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में रियल एस्टेट बाजार में 90 फीसदी की तेजी दर्ज की गई है, जिसमें 47 फीसदी हिस्सेदारी के साथ गुरुग्राम सबसे आगे है. नाइट फ्रैंक इंडिया द्वारा बुधवार को जारी प्रमुख अर्ध वार्षिक रिपोर्ट 'इंडिया रियल एस्टेट' के नौवां संस्करण में यह जानकारी दी गई. 

इस रिपोर्ट के मुताबिक, एचसीआर में नई लांच परियोजनाओं की मांग साल 2017 की पहली छमाही जितना ही है. 2018 की पहली छमाही में 18,000 फ्लैटों की बिक्री हुई, जबकि साल 2017 की पहली छमाही में 17,188 फ्लैटों की बिक्री हुई थी, जो साल-दर-साल आधार पर मामूली 5 फीसदी की वृद्धि दर है. 

रिपोर्ट में कहा गया कि रेरा के सुस्त क्रियान्वयन और प्रमुख बुनियादी ढांचे परियोजनाओं के निष्पादन में देरी ने खरीदारों के भरोसे को डगमगाया है. 2018 की पहली छमाही में 67 फीसदी बिक्री गुरुग्राम और ग्रेटर नोएडा में हुई है. वहीं, अनबिके फ्लैटों का 63 फीसदी भी ग्रेटर नोएडा और गुरुग्राम में है. 

नाइट फ्रैंक इंडिया के कार्यकारी निदेशक मुदस्सिर जैदी ने बताया, "व्यापक स्तर पर, 2018 की पहली छमाही एनसीआर अचल संपत्ति बाजार के लिए सकारात्मक स्तर पर शुरू हुई है. रेरा और जीएसटी जैसे संरचनात्मक सुधारों के कारण आपूर्ति पक्ष काफी हद तक उत्साहित दिखता है. यह इस तथ्य से स्पष्ट है कि कई उल्लेखनीय डेवलपर्स ने 2018 की पहली छमाही में मध्यम खंड में कई नई परियोजनाएं लांच की हैं. हालांकि, उन खरीदारों में आत्मविश्वास को फिर से शुरू करने के लिए बहुत सारे प्रयास किए जाने की जरूरत है जो अभी भी बाजार से सावधान हैं. ऑफिस स्पेस के मोर्चे पर, हम देखते हैं कि स्थिर मांग ने किराये पर ऊपर के दबाव के साथ कुल वैकेंसी के स्तर को कम कर दिया है. आगे हम मानते हैं कि ऑफिस स्पेस बाजार अपने मौजूदा रूझानों को बरकरार रखेगा."