PNB की तीसरी तिमाही में बांड, FPO, राइट्स इश्यू से पूंजी जुटाने की योजना

ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स तथा यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया के खुद में सफल विलय के बाद पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) कारोबार में वृद्धि के लिए चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में बांड, अनुवर्ती सार्वजनिक निर्गम (FPO) या राइट्स इश्यू के जरिये पूंजी जुटाने की योजना बनाई है.

PNB की तीसरी तिमाही में बांड, FPO, राइट्स इश्यू से पूंजी जुटाने की योजना

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली:

ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स तथा यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया के खुद में सफल विलय के बाद पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) कारोबार में वृद्धि के लिए चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में बांड, अनुवर्ती सार्वजनिक निर्गम (FPO) या राइट्स इश्यू के जरिये पूंजी जुटाने की योजना बनाई है. पीएनबी के प्रबंध निदेशक एस एस मलिकार्जुन राव ने कहा कि बैंक का पूंजी आधार अब भी मजबूत है. दिसंबर, 2019 के अंत तक बैंक का पूंजी पर्याप्तता अनुपात 14.04 प्रतिशत था. सरकार ने पिछले साल सितंबर में पीएनबी को 16,091 करोड़ रुपये और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया को 1,666 करोड़ रुपये की पूंजी दी थी. इसके अलावा पीएनबी ने दिसंबर में टियर दो बांडों के जरिये 1,500 करोड़ रुपये जुटाए थे.

राव ने कहा कि आगे चलकर बैंक की योजना अनुवर्ती सार्वजनिक निर्गम से और पूंजी जुटाने की है. पूंजी जुटाने की योजना का ब्योरा देते हुए उन्होंने कहा कि अगले कुछ माह में बैंक अतिरिक्त टियर-1 बांड के जरिये 3,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बना रहा है.

उन्होंने कहा कि बैंक के निदेशक मंडल ने पहले ही इसके मंजूरी दे दी है. अब हम इसके लिए सरकार से मंजूरी लेंगे. राव ने कहा कि चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में हमारी योजना पात्र संस्थागत नियोजन (क्यूआईपी), एफपीओ या राइट्स इश्यू से पूंजी जुटाने की है. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)