Profit
होम | फार्मा

फार्मा

  • सुप्रीम कोर्ट ने सैरीडॉन समेत तीन दवाओं पर लगी रोक हटाई, केंद्र सरकार से मांगा जवाब
    सुप्रीम कोर्ट ने सैरीडॉन, प्रिट्रान और डार्ट ड्रग्स पर लगी रोक हटा ली है. कोर्ट ने इस मामले में केंद्र सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. आपको बता दें कि केंद्र सरकार द्वारा पिछले दिनों प्रतिबंधित 328 दवाओं की लिस्ट में इन दवाओं का भी नाम था.
  • फोर्टिस हेल्थकेयर के पूर्व प्रवर्तक शिविंदर सिंह ने अपने बड़े भाई के खिलाफ किया मामला दायर
    फोर्टिस हेल्थकेयर के पूर्व प्रवर्तक शिविंदर सिंह ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने अपने बड़े भाई मालविंदर मोहन सिंह और रेलिगेयर के पूर्व प्रमुख सुनील गोधवानी के खिलाफ राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) में अपील की है.
  • रेड्डीज ने कैंसर के इलाज के लिये भारत में पेश की हर्वेसेटा
    दिग्गज दवा कंपनी डॉ रेड्डीज लेबोरेटरीज ने कुछ प्रकार के कैंसर के इलाज के लिये भारत में औषधि हार्वीक्टा पेश किये जाने की आज घोषणा की. हार्वीक्टा (ट्रास्तुजुमाब) का उपयोग प्रारंभिक स्तन कैंसर, मेटास्टैटिक स्तन कैंसर (स्तन कैंसर का चौथा चरण) और मेटास्टैटिक गैस्ट्रिक कैंसर (अमाशय का कैंसर) के इलाज के लिये किया जाता है. 
  • फोर्टिस ईजीएम 13 अगस्त को, आईएचएच को हिस्सेदारी बिक्री पर शेयरधारकों की मंजूरी लेगी
    फोर्टिस हेल्थकेयर ने कहा कि मलेशिया की आईएचएच हेल्थकेयर द्वारा कंपनी के अधिग्रहण को लेकर शेयरधारकों की मंजूरी लेने के लिए 13 अगस्त को कंपनी की असाधारण आम बैठक (ईजीएम) बुलाई गई है. कंपनी के निदेशक मंडल ने आईएचएच हेल्थकेयर द्वारा 31.1 प्रतिशत हिस्सेदारी 4,000 करोड़ रुपये में खरीदे जाने को पिछले सप्ताह मंजूरी दे दी थी. 
  • आईएचएच हेल्थकेयर करेगा फोर्टिस में 4,000 करोड़ रुपये का निवेश
    नकदी के संकट से जूझ रही फोर्टिस हेल्थकेयर को कई महीनों की तलाश के बाद आखिरकार मलेशिया की आईएचएच हेल्थकेयर बरहाद के रुप में निवेशक मिल गया. यह कंपनी फोर्टिस में 4,000 करोड़ रुपये निवेश करेगी जिसके लिए उसे 170 रुपये प्रति शेयर तरजीही तौर पर आवंटित किए जाएंगे. 
  • फोर्टिस ने संस्थापक सिंह बंधुओं से 500 करोड़ रुपये वसूलने की कार्रवाई शुरू की
    फोर्टिस हेल्थकेयर ने कहा कि उसने संस्थापकों मालविंदर सिंह और शिविंदर सिंह से कंपनी का करीब 500 करोड़ रुपये वसूलने की न्यायिक प्रक्रिया शुरू कर दी है जो उन्होंने कथित तौर पर गलत तरीके से हथिया लिया है.
  • तेजी से बढ़ रहा देश का स्वास्थ्य बाजार
    अस्पताल में भर्ती होने पर बढ़ती लागत, तेजी से बढ़ती बुजुर्ग आबादी और व्यक्तिगत चिकित्सा पर ध्यान देने की जरूरत की वजह से देश में घर पर मुहैया कराई जाने वाले स्वास्थ्य देखभाल (होम हेल्थकेयर) सेवा क्षेत्र में तेजी से वृद्धि की है, जिसमें आने वाले सालों में कई गुना बढ़ोतरी होनी तय है. 
  • लागत में 50% कमी लाने वाला एमआरआई स्कैनर विकसित: टाटा ट्रस्ट
    टाटा ट्रस्ट के फाउंडेशन फॉर इनोवेशन एंड सोशल एंटरप्रेन्योरशिप (एफआईएसई) ने एक नया एमआरआई स्कैनर विकसित किया है. ट्रस्ट के अनुसार यह स्कैनिंग की लागत में 50% तक की कमी लाने में सक्षम होगा. एफआईएसई ने बताया कि पूरे शरीर का स्कैन करने में सक्षम 1.5 टेस्ला मैगनेटिक रेसोनेंस इमेजिंग (एमआरआई) स्कैनर को कुल 15 करोड़ रुपये के निवेश से विकसित किया गया है. इसे आठ वैज्ञानिकों और इंजीनियरों ने मिलकर विकसित किया है. 
  • फाइजर ने वापस मंगाई एंटी बायोटिक की 18 लाख शीशियां
    फाइजर इंक ने अमेरिकी बाजार से पाइपेरासिलिन और टाजोबैक्टम एंटी - बायोटिक की 18 लाख से ज्यादा शीशियां वापस मंगाई हैं. हालांकि ये शीशियां भारत में ही बनी हैं. 
  • ई-फार्मेसी के लिए नये नियम लाने की तैयारी में स्वास्थ्य मंत्रालय
    स्वास्थ्य मंत्रालय दवाओं की आनलाइन किब्री के लिए नियमों का नया सैट लाने की योजना बना रहा है. प्रस्तावित नियमों के तहत आनलाइन दवा बिक्री दुकानों ई फार्मेसी को एक केंद्रीय प्राधिकार के पास पंजीकरण करवाना होगा. इसके साथ ही इन्हें मादक द्रव्यों की बिक्री की अनुमति नहीं होगी.
  • दवा और स्वास्थ्य सेवा कंपनियां देतीं हैं सबसे ज्यादा वेतन: रिपोर्ट
    इस सूची में बेंगलुरु के बाद पुणे (10.3 लाख रुपये ) का नंबर आता है. रिपोर्ट के अनुसार तीसरे स्थान पर एनसीआर और मुंबई आता है. इन शहरों में प्रोफेशनल्स को औसतन 9.9 लाख और 9.2 लाख रुपये सालाना का पैकेज दिया जाता है. जबकि चेन्नई में यह वेतन आठ लाख रुपये, हैदराबाद में 7.9 लाख रुपये और कोलकाता में 7.2 लाख रुपये है.
  • इन बीमारियों की दवाओं के बढ़े दाम, जानें क्‍या है कारण
    एनपीपीए के स्थापना दिवस पर अपने संबोधन में कुमार ने कहा था कि दवा (मूल्य नियंत्रण) आदेश, 2013 के तहत करीब 900 दवाओं का मूल्य निर्धारण किया गया है और इससे ग्राहकों को 5,000 करोड़ रुपये की बचत हुई है.
  • सावधान! हर मर्ज की नकली दवा बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़
    बाजार में उल्टी, दस्त,दर्द, एसिडिटी और गैस से राहत दिलाने वाली दवाएं नकली मिल रही हैं. ये खुलासा किया है दिल्ली पुलिस ने. पुलिस ने नामी कंपनियों की नकली दवाएं बनाने वाली एक फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है. फैक्ट्री मालिक समेत दो लोग गिरफ़्तार किए गए हैं.
  • कैंसर-टीबी, मलेरिया और हेपेटाइटिस-बी जैसी बीमारियों में दी जाने वाली दवाइयों के अधिकतम दाम तय
    दवा मूल्य नियामक एनपीपीए ने आज कहा कि उसने 39 और दवा फार्मुलेशन का अधिकतम मूल्य तय कर दिया है.

................................ Advertisement ................................

................................ Advertisement ................................