PFC के 5,000 करोड़ रुपये के बॉन्ड इश्यू को टारगेट से ज्यादा आवेदन, तय समय से पहले बंद

पीएफसी ने बॉन्ड इश्यू के जरिये दो किस्तों में 10,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बनाई थी. 

PFC के 5,000 करोड़ रुपये के बॉन्ड इश्यू को टारगेट से ज्यादा आवेदन, तय समय से पहले बंद

PFC ने बॉन्ड इश्यू के जरिये दो किस्तों में 10,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बनाई थी. 

नई दिल्ली:

सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी पावर फाइनेंस कार्पोरेशन (पीएफसी) के 5,000 करोड़ रुपये के करयोग्य गैर- परिवर्तनीय डिबेंचर (एनसीडी) को सोमवार को तय सीमा से नौ गुणा के करीब आवेदन प्राप्त हो गये और इसे देखते हुये इश्यू को तय समय से 11 दिन पहले ही अभिदान के लिये बंद कर दिया गया. पीएफसी ने बॉन्ड इश्यू के जरिये दो किस्तों में 10,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बनाई थी. इश्यू की पहली किस्त के तहत 4,500 करोड़ रुपये के ग्रीन- शू विकल्प सहित 5,000 करोड़ रुपये का इश्यू शुक्रवार 15 जनवरी को अभिदान के लिये खुल गया और इसे 29 जनवरी को बंद होना था लेकिन इश्यू सोमवार को ही बंद हो गया क्योंकि इसे दूसरे ही दिन तय सीमा से अधिक आवेदन प्राप्त हो गये. 

बंबई शेयर बाजार के आंकड़ों के मुताबिक इश्यू के तहत 1,000 रुपये प्रत्येक अंकित मूल्य वाले 50 लाख बॉंड की पेशकश के मुकाबले एनसीडी के लिये 4.47 करोड़ बॉंड के लिये आवंदन प्राप्त हुये हैं. इस प्रकार पीएफसी को उसके मूल्य इश्यू आकार 500 करोड़ रुपये (4,500 करोड़ रुपये के ग्राीन- शू आप्शन के साथ) 4,477.63 करोड़ रुपये के लिये आवेदन प्राप्त हो गये. 

Newsbeep

सूत्रों का कहना है कि पहली किस्त के लिये मिली उत्साहवर्धक प्रतिक्रिया को देखते हुये पीएफसी 5,000 करोड़ रुपये की दूसरी किस्त को चालू वित्त वर्ष में ही बाजार में उतार सकती है।



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)