This Article is From Aug 21, 2019

पेट्रोल, डीजल के दाम स्थिर, कच्चे तेल में तेजी जारी, आने वाले दिनों में बढ़ सकते हैं भाव

तेल विपणन कंपनियों ने बुधवार को पेट्रोल और डीजल के दाम में कोई बदलाव नहीं किया, लेकिन अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में चार दिनों से तेजी का सिलसिला जारी है.

पेट्रोल, डीजल के दाम स्थिर, कच्चे तेल में तेजी जारी, आने वाले दिनों में बढ़ सकते हैं भाव

प्रतीकात्मक फोटो

हाइलाइट्स

  • पेट्रोल, डीजल के दाम बुधवार को स्थिर
  • कच्चे तेल में तेजी जारी
  • आने वाले दिनों में बढ़ सकते हैं भाव
नई दिल्ली:

तेल विपणन कंपनियों ने बुधवार को पेट्रोल और डीजल के दाम में कोई बदलाव नहीं किया, लेकिन अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में चार दिनों से तेजी का सिलसिला जारी है और अगर यह तेजी आगे भी जारी रही तो पेट्रोल और डीजल के भाव आने वाले दिनों में बढ़ सकते हैं. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में इस महीने के पहले पखवारे में नरमी रहने से पेट्रोल और डीजल के दाम में गिरावट का सिलसिला जारी रहा, मगर हालिया तेजी के बाद उपभोक्ताओं को पेट्रोल और डीजल के दाम में अब और राहत मिलने की उम्मीद कम हो गई है. 

हरे निशान में खुलने के बाद 80 अंक टूटा सेंसेक्स

इंडियन ऑयल की बेवसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल के दाम बुधवार को पूर्ववत क्रमश: 71.84 रुपये, 74.54 रुपये, 77.50 रुपये और 74.62 रुपये प्रति लीटर बने रहे. चारों महानगरों में डीजल के दाम भी यथावत क्रमश: 65.11 रुपये, 67.49 रुपये और 68.26 रुपये और 68.79 रुपये प्रति लीटर बने रहे. दिल्ली-एनसीआर स्थित नोएडा और गाजियाबाद में भी पेट्रोल और डीजल के भाव में स्थिरता बनी रही. नोएडा में पेट्रोल 73.79 रुपये लीटर जबकि डीजल 65.40 रुपये लीटर मिल रहा है. गाजियाबाद में पेट्रोल का भाव 73.65 रुपये और डीजल का भाव 65.26 रुपये प्रति लीटर बना हुआ है. 

Share Market: बैंकिंग, वाहन कंपनियों में खरीदारी से शेयर बाजार में सुधार, सेंसेक्स 39 अंक चढ़ा

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सोमवार को पेट्रोल और डीजल पर वैट में क्रमश: 26.80 फीसदी और 17.48 फीसदी की बढ़ोतरी किए जाने के कारण राज्य के विभिन्न शहरों में पेट्रोल और डीजल के दाम में भारी वृद्धि दर्ज की गई. अंतरराष्ट्रीय वायदा बाजार आईसीई पर बेंचमार्क कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड के अक्टूबर डिलीवरी अनुबंध में पिछले सत्र से 0.28 फीसदी की तेजी के साथ 60.31 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था. वहीं, अमेरिकी लाइट क्रूड डब्ल्यूटीआई का अक्टूबर डिलीवरी अनुबंध न्यूयार्क मर्केटाइल एक्सचेंज पर 0.36 फीसदी की तेजी के साथ 56.33 डॉलर प्रति बैरल पर बना हुआ था.

VIDEO: क्यों लगातार गिर रहा है रुपया?

.